Sunday, February 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: अब जयसिंह अग्रवाल के बंगले में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल... 2...

CG: अब जयसिंह अग्रवाल के बंगले में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल… 2 OSD, 2 पीए के साथ मिलेगी Z प्लस सिक्योरिटी; ये सुविधाएं भी हैं शामिल

रायपुर: पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अब जयसिंह अग्रवाल के बंगले में रहेंगे। सियासी गलियारों में चर्चा में है कि सीएम रहते हुए भूपेश बघेल ने जो अंतिम फाइल साइन की है, उसमें अपने लिए सुरक्षा और पूर्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल वाला बंगला अलॉट किया है।

चर्चा है कि वास्तु और क्षेत्रफल को ध्यान में रखते हुए इस बंगले को चुना गया है। नई सरकार बनने के बाद इसकी जांच भी होगी कि कहीं ये फाइल बैक डेट में जाकर तो साइन नहीं किया गया है।

भूपेश बघेल की सिक्योरिटी (फाइल फोटो)।

भूपेश बघेल की सिक्योरिटी (फाइल फोटो)।

ये मिलेंगी सुविधाएं

पूर्व सीएम भूपेश बघेल को नए बंगले के साथ-साथ 2 ओएसडी, दो पीए और सुरक्षा के लिए 4 के बदले 6 जवान मिलेंगे। इसके साथ-साथ पूर्व सीएम भूपेश बघेल को प्रोटोकॉल के अनुसार Z प्लस सिक्योरिटी भी मिलेगी।

मुख्यमंत्री निवास रायपुर (फाइल फोटो)।

मुख्यमंत्री निवास रायपुर (फाइल फोटो)।

वास्तु और क्षेत्रफल के अनुसार लिया है बंगला

चर्चा है कि भूपेश बघेल ने जयसिंह अग्रवाल का बंगला वास्तु के अनुरूप सबसे बढ़िया होने की वजह से लिया है। पारिवारिक सदस्यों ने वास्तु के अनुसार इस बंगले का चयन किया है। अब यह भूपेश बघेल का नया निवास स्थान होगा। वास्तु के साथ-साथ यह बंगला सबसे बड़ा बंगला मना जाता है। यहां कमरों की संख्या से लेकर अन्य चीजें भी बाकी बंगलों से ज्यादा हैं।

15 दिन में होगी शिफ्टिंग

संभावना है कि भूपेश बघेल 15 दिन के भीतर मुख्यमंत्री निवास से इस नए बंगले में शिफ्ट हो जाएंगे। चूंकि बीजेपी ने अभी तक सीएम के नाम की घोषणा नहीं की है, ऐसे में फिलहाल भूपेश बघेल ही कार्यकारी सीएम हैं। आज संभावना है कि बीजेपी सीएम के नाम की घोषणा करेगी। जिसके बाद बघेल सीएम हाउस से शिफ्ट करेंगे।

पूर्व सीएम भूपेश बघेल (फाइल फोटो)।

पूर्व सीएम भूपेश बघेल (फाइल फोटो)।

फाइल की होगी चेकिंग

माना जा रहा है कि सीएम रहते हुए भूपेश ने इस फाइल पर अंतिम साइन किया है। जिसमें अपने लिए बंगले के साथ-साथ दूसरी सुविधाओं को मंजूरी दी है। चर्चा है कि नई सरकार बनाने के बाद इस फाइल की जांच होगी कि कहीं ये फाइल बैक डेट में तो जाकर साइन नहीं की गई है।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular