Saturday, March 2, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: सरकार बदलते ही NSUI नेता का सरेंडर... गैंगवार और हत्या केस...

CG: सरकार बदलते ही NSUI नेता का सरेंडर… गैंगवार और हत्या केस में 2 साल से था फरार, कोर्ट से पकड़ थाने लाई बिलासपुर पुलिस

BILASPUR: छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में दो साल पहले गैंगवार और मर्डर के मुख्य आरोपी और NSUI नेता वसीम खान आखिरकार सरेंडर कर दिया है। सरकार बदलते ही दो साल से फरार चल रहे हत्या के आरोपी की गिरफ्तारी के लिए दबाव बना, तब वह खुद कोर्ट पहुंचा और सरेंडर कर दिया। जहां से पुलिस उसे पकड़कर थाने ले आई है। पूरा मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

दरअसल, दो साल पहले 25 फरवरी 2021 को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शहर प्रवास पर थे। इस दौरान दिनदहाड़े चाकूबाजी और गैंगवार में नाबालिग की हत्या कर दी गई थी। 20 से 25 नाबालिगों ने मिलकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया था।

दोपहर में सरेंडर करने कोर्ट पहुंचा हत्या का फरार आरोपी वसीम खान।

दोपहर में सरेंडर करने कोर्ट पहुंचा हत्या का फरार आरोपी वसीम खान।

इसके अलावा इस हमले में बीच-बचाव करने वाले एक युवक पर जानलेवा हमला भी हुआ था। पुलिस ने जांच के बाद 9 नाबालिग समेत 10 आरोपियों को गिरफ्तार किया था। बाकी के आरोपियों के खिलाफ अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

वसीम खान पर गैंगवार और हत्या कराने का आरोप
गैंगवार और मर्डर के इस केस के शुरुआत में पुलिस पर मुख्य आरोपियों को बचाने का आरोप लग रहा था। कांग्रेस नेताओं के संरक्षण में मुख्य आरोपी वसीम खान के खिलाफ पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने के आरोप लगे। इस पर मृत नाबालिग के पिता ने पुलिस अफसरों से शिकायत की, तब बाद में जांच के बाद पुलिस ने केस में NSUI के प्रदेश सचिव वसीम खान को भी आरोपी बनाया, लेकिन पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी नहीं की थी।

कांग्रेस नेताओं के संरक्षण का आरोप, दबाव में नहीं हो रही थी गिरफ्तारी
हत्या के इस केस में घायल युवक का वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें उसने कहा था कि NSUI नेता वसीम खान ने गैंगवार और मर्डर प्लान किया था। पुलिस ने मोबाइल कॉल डिटेल और लोकेशन खंगाला। इसमें वसीम खान का लोकेशन भी तालापारा में मिला था। उसे आरोपी बनाने के बाद पुलिस उसे फरार बताती रही।

गैंगवार में नाबालिग लड़के की हुई थी हत्या।

गैंगवार में नाबालिग लड़के की हुई थी हत्या।

सरकार बदलते ही किया सरेंडर
बता दें कि छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के बाद तख्ता पलट हो गया है। कांग्रेस की सरकार चली गई और अब भाजपा की सरकार बनने जा रही है। भाजपा नेता और पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने भाजपा की सरकार बनते ही 15 दिनों के भीतर शहर से गुंडागर्दी, भय और आतंक को खत्म करने का दावा किया था, जिस पर अमल होना भी शुरू हो गया है। उनकी इस सख्ती को देखते हुए फरार आरोपी और एनएसयूआई नेता वसीम खान पर दबाव बनाया गया।

हालांकि, पुलिस उसकी तलाश में भी जुट गई थी। इधर, मंगलवार को दोपहर अचानक वसीम खान कोर्ट पहुंचा और सरेंडर कर दिया। कोर्ट से इसकी जानकारी सिविल लाइन पुलिस को दी गई। फिर पुलिस उसे पूछताछ करने के लिए रिमांड पर लेकर थाने आ गई। पुलिस अभी उसकी गिरफ्तारी की अधिकारिक पुष्टि नहीं कर रही है। हालांकि, सिविल लाइन थाने में उससे पूछताछ की जा रही है।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular