Tuesday, April 16, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG : ग्वालियर की टीचर को डिजिटल अरेस्ट करने वाला गिरफ्तार, डराया-...

CG : ग्वालियर की टीचर को डिजिटल अरेस्ट करने वाला गिरफ्तार, डराया- आपकी सिम से बच्चियों को अश्लील मैसेज गए, 51 लाख रुपए ऐंठे थे

Gwalior: ग्वालियर की रिटायर्ड टीचर को ब्लैकमेल कर 51 लाख रुपए ऐंठने वाला पकड़ा गया है। ग्वालियर क्राइम ब्रांच ने आरोपी को भिलाई (छत्तीसगढ़) से गिरफ्तार किया। आरोपी दुबई में बिटकॉइन ट्रेडिंग कंपनी चला रहा था। पुलिस को आशंका है कि आरोपी ठगी की काली कमाई को बिटकॉइन में लगाकर वाइट करता था।

आरोपी कुणाल जायसवाल ने पिछले महीने टीचर आशा भटनागर (72) को कॉल कर कहा था कि आपके नाम की सिम से बच्चियों को अश्लील मैसेज भेजे गए हैं। उसने ED और CBI रेड का डर दिखाया। घबराई टीचर ने उसके बताए बैंक अकाउंट में 51 लाख रुपए ट्रांसफर कर दिए। ठगी की रकम में से 9.50 लाख रुपए (42 हजार दिरहम) UAE के खाते में ट्रांसफर किए थे। इसी खाते के आधार पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी के पास से बड़ी संख्या में दूसरे लोगों के नाम के आधार कार्ड, ATM कार्ड, पासबुक, चेकबुक, मोबाइल, लैपटॉप और आईपैड बरामद किए गए हैं। ठगी से कमाए रुपए से नेहरू नगर (भिलाई) में बड़ा बंगला, लग्जरी गाड़ियां खरीद रखी हैं। उसने पुणे में सिंबायोसिस यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की। आरोपी ने MCA (मास्टर ऑफ कम्प्यूटर एप्लीकेशन) इन IT (इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी) कोर्स किया है।

ग्वालियर SP धर्मवीर सिंह ने बताया कि पुलिस आरोपी के बाकी साथियों के बारे में पूछताछ कर रही है।

आरोपी के पास से बड़ी संख्या में दूसरे लोगों के दस्तावेज बरामद हुए हैं। लैपटॉप, मोबाइल, आईपैड भी पुलिस ने जब्त किए हैं।

आरोपी के पास से बड़ी संख्या में दूसरे लोगों के दस्तावेज बरामद हुए हैं। लैपटॉप, मोबाइल, आईपैड भी पुलिस ने जब्त किए हैं।

25 खातों में ट्रांसफर हुई ठगी की रकम

ठगे गए 51 लाख रुपए की रकम कश्मीर, गुजरात और राजस्थान सहित अन्य राज्यों के 25 बैंक खातों में ट्रांसफर की गई थी। पुलिस ने जब इन खातों की पड़ताल की, तब पता चला कि अन्य खातों से रकम ऑनलाइन ट्रांसफर हुई थी, लेकिन एक खाते से एक युवक ने रुपए खुद पहुंचकर निकाले थे।

बंगले में दर्जनभर नौकरों के साथ था सरगना

पुलिस ने रकम ट्रांसफर होने की जानकारी जुटाई तो भिलाई के कोटक महिंद्रा बैंक के खाते से रकम UAE के खाते में ट्रांसफर होने की जानकारी मिली। इसके बाद पुलिस की 5 सदस्यीय टीम भिलाई पहुंची। भिलाई में टीम ने 2 दिन आरोपी के बैंक से भी जानकारी ली। इसके बाद पुलिस पार्टी इलेक्शन सेल टीम बनकर अरोपी के घर पहुंची। आरोपी कुणाल जायसवाल जैसे ही सामने आया, पुलिस ने पकड़ लिया। पुलिस उसे पकड़कर ग्वालियर ले आई। उसके घर में भाई और परिवार के साथ ही लगभग एक दर्जन नौकर थे।

कश्मीर के खाते में 1.8 करोड़ का ट्रांजेक्शन

टीचर से ठगे गए 51 लाख रुपए में से 46 लाख रुपए कश्मीर में पंजाब नेशनल बैंक में ट्रांसफर कराए गए थे। 14 मार्च को एक ही दिन में इस खाते में 1.8 करोड़ रुपए पहुंचे थे। ये रकम तत्काल कोटक महिंद्रा बैंक के खाते सहित अन्य खातों में शिफ्ट की गई थी। इन खातों से यह रुपए दुबई ट्रांसफर किए गए। UAE में कुणाल की कंपनी और उसका खाता भी है। इससे रकम ट्रांसफर की गई। उसके पास से UAE का परिचय पत्र भी मिला है।

रिटायर्ड टीचर आशा भटनागर (72) ग्वालियर में अकेली रहती हैं। बेटा विदेश में रहता है। बेटी और दामाद पुणे में रहते हैं।

रिटायर्ड टीचर आशा भटनागर (72) ग्वालियर में अकेली रहती हैं। बेटा विदेश में रहता है। बेटी और दामाद पुणे में रहते हैं।

कैसे किया फ्रॉड? टीचर से ही जानते हैं…

कॉल कर कहा- आपका अरेस्ट वारंट इश्यू हो चुका है, मुंबई पुलिस 2 घंटे में गिरफ्तार करेगी

रिटायर्ड टीचर आशा भटनागर शहर के मुरार इलाके में सीपी कॉलोनी में रहती हैं। उन्हें 14 मार्च की सुबह 8.46 बजे कॉल आया था। आशा के मुताबिक, ‘कॉल करने वाले ने खुद को सुनीता कुमारी बताते हुए मुझसे कहा कि आपका अरेस्ट वारंट इश्यू हुआ है। मुंबई पुलिस 2 घंटे में अरेस्ट करेगी। मैंने पूछा क्यों? तो कहा कि आपके खिलाफ 24 FIR दर्ज हैं। एयरटेल की सिम आपके नाम से 1 दिसंबर 2023 को मुंबई से खरीदी गई। इस सिम से बच्चियों को अश्लील मैसेज किए गए हैं।’

टीचर ने बताया, ‘मुझसे कहा गया कि अगर आपने ये अपराध नहीं किया है तो आपको अपनी ऑनलाइन FIR करानी होगी। इसकी प्रोसेस बताते हुए उसने स्काइप एप डाउनलोड कराया। स्काइप पर VIDEO कॉल कनेक्ट होते ही यह कहते हुए डराया कि मेरे कैनरा बैंक के अकाउंट में किसी नरेश अग्रवाल के केस में 2.5 करोड़ की मनी लॉन्ड्रिंग भी हुई है। ED और CBI जांच की बात कही। इसी बीच एक पुलिस जैसा दिखने वाला युवक कहने लगा कि इन्हें तत्काल गिरफ्तार कर लो।’

आरोपियों ने इन मामलों के नाम पर और पुणे में दामाद को उठाने की धमकी देते हुए टीचर को डिजिटली हाउस अरेस्ट कर लिया था। घबराकर टीचर ने 46 लाख रुपए की FD (फिक्स डिपोजिट) तुड़वाई। 5 लाख रुपए बेटी के अकाउंट से भी उसकी एक्सेस लेकर आरोपी के बताए खाते में ट्रांसफर कर दिए।

आरोपियों ने कहा था कि जब तक जांच की प्रोसेस पूरी नहीं हो जाती किसी को कुछ नहीं बताना। टीचर का बेटा विदेश में रहता है। बेटी और दामाद पुणे में रहते हैं। वह ग्वालियर में अकेली रहती हैं। घटना के कुछ समय बाद जब उन्हें समझ में आया तो वॉटसएप पर बेटी को सूचना दी। इसके बाद मुरार थाने पहुंचकर शिकायत की।

Muritram Kashyap
Muritram Kashyap
(Bureau Chief, Korba)
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular