Friday, April 19, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाChhattisgarh : दिनदहाड़े बाजार से की थी उठाईगिरी, 7 लाख की 10...

Chhattisgarh : दिनदहाड़े बाजार से की थी उठाईगिरी, 7 लाख की 10 किलो चांदी बरामद; शातिर बदमाशों को पुलिस ने दबोचा

Dhamtari: छत्तीसगढ़ में धमतरी पुलिस ने 10 किलो 213 ग्राम चांदी के जेवरात जब्त किए हैं, जिसकी कीमत 7 लाख रुपए आंकी जा रही है। बीते दिनों सिहावा क्षेत्र के बेलर बाजार में उठाईगिरी हुई थी। पुलिस की टीम ने बेलर से बोराई, विश्रामपुरी, रायघर में लगे लगभग 200 CCTV कैमरों को खंगाला, जिसके बाद शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया।

सिहावा थाना में 18 जनवरी को प्रार्थी चिराग गोलछा ने रिपोर्ट दर्ज कराई। वह बेलरगांव बाजार में सोने चांदी की दुकान लगाया था, जो कि 05:50 बजे पर अपनी दुकान बंद कर चांदी की जेवरात को एक टीना की पेटी में बंद कर बाजार दुकान में ही सामान रखकर बाथरूम करने चला गया, जब आयो तो चांदी से भरी पेटी गायब थी।

CCTV कैमरों से मिले सुराग

मामले में पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर ने तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए थे। क्षेत्र में नाकाबंदी कर आरोपियों की पतासाजी की गई। साइबर सेल और थाना सिहावा के बल को अलग-अलग पार्टी बनाकर सरहदी जिलों कांकेर, महासंमुद और रायघर में CCTV कैमरों को खंगाला गया।

नाबालिग पूछ रहा था दुकानदारों का पता

इस दौरान महासमुंद के खल्लारी थाना के गुरू नेताम, सचिन नेताम, रोशन नेताम और सिद्धू राव साकिन आसका ओडिशा जो दिनांक घटना 18.01.24 को विश्रामपुरी और बोराई चौक में दो अलग-अलग बाइक में आना पाया गए। इसी बीच सूचना मिली कि एक नाबालिग सांकरा बस स्टैंड में 3 फरवरी को चांदी के जेवरात बेचने के लिए दुकानदारों का पता पूछ रहा है।

मुखबिर की सूचना पर तत्काल सिहावा पुलिस ने घेराबंदी कर पकड़ा। इस दौरान नाबालिग ने बताया कि अपने रिस्तेदार गुरू नेताम निवासी भीमखोज के साथ बाइक में अपने परिचित मेघराज निवासी जोड़ेगा थाना रायघर जिला नवरंगपुर ओडिशा के घर आकर रुका था।

दूसरे दिन गुरु नेताम अपने अन्य साथी सचिन नेताम निवासी भीमखोज, सिद्धूराव निवासी आसका (ओडिशा) को फोन के द्वारा बुलाया। चारों विश्रामपुरी गंए वहां से वापस आकर ग्राम बेलरगांव बाजार पहुंचे। जहां पर प्रार्थी की दुकान को रेकी करते रहे, जिस पर घटना समय को प्रार्थी के बाहर जाने पर चांदी से भरी पेटी को नाबालिग लेकर भाग गया।

साथी आरोपी सचिन नेताम के मोटर सायकल पर बैठकर पेटी को लेकर आगे निकले। पीछे दूसरी मोटर साइकिल में गुरू नेताम और सिधु राव भी निकले। अलग-अलग बिरगुड़ी रोड होते हुए कर्राघाठी नाले में पेटी तोड़कर जेवरात को अलग प्लाटिक बोरी में भरे। इसके बाद चारों ने बैठकर शराब का सेवन किया। इसके बाद ग्राम भीमखोज पहुंचकर चोरी किए गए जेवरात को दो हिस्सों में बांटा गया। आरोपी ने बताया कि एक हिस्से में नाबालिग और सिद्धू राव, तो दूसरे हिस्से में गुरू नेताम और सचिन नेताम को मिला। आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular