Monday, April 15, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: छत्तीसगढ़िया ओलंपिंक: छत्तीसगढ़ की संस्कृति व परम्पराओं का संरक्षण राज्य सरकार...

कोरबा: छत्तीसगढ़िया ओलंपिंक: छत्तीसगढ़ की संस्कृति व परम्पराओं का संरक्षण राज्य सरकार का अनुकरणीय कदम- महापौर

  • महापौर श्री राजकिशोर प्रसाद ने छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के पांचवे दिवस की जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं का शुभारंभ कराया

कोरबा (BCC NEWS 24): महापौर श्री राजकिशोर प्रसाद ने आज कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के मार्गदर्शन में राज्य सरकार छत्तीसगढ़ की संस्कृति व परम्पराओं के संरक्षण एवं संवर्धन का कार्य कर रही है, जो अनुकरणीय व सराहनीय कदम है। उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़िया ओलंपिक इसका जीवंत उदाहरण है, जिसके माध्यम से छत्तीसगढ़ के पारंपरिक खेलों के प्रति लोगों में जागरूकता लाने तथा इन लुत्फ होते पारंपरिक खेलों को खेल जगत में सम्मान देने का कार्य प्रदेश सरकार कर रही हैं।

उक्त बातें महापौर श्री राजकिशोर प्रसाद ने प्रियदर्शनी इंदिरा स्टेडियम परिसर में आयोजित छत्तीसगढ़िया ओलंपिक खेल प्रतियोगिता के दौरान कही। यहॉं उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के पारंपरिक खेलों को बढ़ावा देने, उन्हें संरक्षित व संवर्धित करने हेतु प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के निर्देश पर राज्य के नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों में छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का आयोजन किया जा रहा है, कलेक्टर श्री संजीव कुमार झा के मार्गदर्शन एवं आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय के दिशा निर्देशन में नगर पालिक निगम कोरबा क्षेत्र में वार्ड स्तरीय, जोन स्तरीय व कलस्टर स्तरीय खेलों के आयोजन के पश्चात विगत चार दिन से प्रियदर्शनी इंदिरा स्टेडियम परिसर में जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही हैं। जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं के पांचवे दिवस आज महापौर श्री राजकिशोर प्रसाद ने जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में खेल प्रतियोगिताओं का शुभारंभ कराया तथा उसकी घोषणा की।

इस मौके पर मेयर इन काउंसिल के सदस्यगण, पार्षद व एल्डरमेनगण, राजीव युवा मितान क्लब के पदाधिकारी व सदस्यगण सहित खिलाड़ी व अन्य नागरिकगण उपस्थित थे। इस मौके पर महापौर श्री राजकिशोर प्रसाद ने स्टेडियम परिसर में खेली जा रही है, विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं का अवलोकन किया, खिलाड़ियों से भेंट की, उन्हें अपनी शुभकामनाएं दी तथा उनका उत्साहवर्धन किया। इस अवसर पर मेयर इन काउंसिल सदस्य संतोष राठौर, पार्षद बसंत चन्द्रा, संतोष लांझेकर, शैलेन्द्र सिंह पप्पी, एल्डरमेन गीता गभेल, सनददास दीवान, रामगोपाल यादव सहित निखिल शर्मा, ममता अग्रवाल, बसंत शर्मा, रघु दीवान, घनश्याम श्रीवास, नीलम शर्मा आदि के साथ ही राजीव युवा मितान क्लब के पदाधिकारी व सदस्यगण, विभिन्न खेल विधाओं के खिलाड़ीगण तथा काफी संख्या में नागरिकगण उपस्थित थे।

इन खेल विधाओं पर आयोजित हो रही प्रतियोगिताएं – छत्तीसगढ़ के पारंपरिक खेलों को इन प्रतियोगिताओं में शामिल किया गया है, इन खेल विधाओं की संख्या 14 है, जिन पारंपरिक खेल विधाओं पर प्रतियोगिताएं आयोजित हो रही हैं, उनमें गिल्ली डंडा, पिट्ठूल, संखली, लंगड़ी दौड़, कबड्ड़ी, खो-खो, रस्सा कसी, बांटी (कंचा), बिल्लस, फुगड़ी, गेड़ी दौड़, भवरा, 100 मीटर दौड़, लम्बी कूद आदि खेल सम्मिलित हैं।

26 नवम्बर को 12 बजे पुनः होगा शुभारंभ – महापौर श्री राजकिशोर प्रसाद 26 नवम्बर को दोपहर 12 बजे छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं के छठवे व अंतिम दिवस के आयोजन का शुभारंभ करेंगे। इसके साथ ही 26 नवम्बर को सायं जिला स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं का समापन भी किया जाएगा।  

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular