Saturday, May 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकुर्सी से उतरकर जमीन पर बैठे कलेक्टर... दिव्यांगों को सिलाई मशीन, सर्टिफिकेट...

कुर्सी से उतरकर जमीन पर बैठे कलेक्टर… दिव्यांगों को सिलाई मशीन, सर्टिफिकेट के साथ ही रोजगार देने का भी दिया आश्वासन; अधिकारी को लगाई फटकार

बालोद: जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय में मंगलवार को कलेक्टर कुलदीप शर्मा दिव्यांगों के साथ जमीन पर बैठे और उनकी समस्याएं सुनीं। दिव्यांग अपनी समस्याओं को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे हुए थे, इस दौरान कलेक्टर कुलदीप शर्मा अधिकारियों की बैठक ले रहे थे और आम जनता की समस्याओं को भी सुन रहे थे। इसी दौरान कुछ दिव्यांग युवतियां कलेक्टर के पास अपनी शिकायत लेकर पहुंचीं, तो कलेक्टर अपनी कुर्सी से उतरकर दिव्यांगों के साथ जमीन पर बैठ गए।

अब कलेक्टर कुलदीप शर्मा का ये अंदाज लोगों को खूब पसंद आ रहा है। लोगों ने कहा कि कलेक्टर जमीन से जुड़े हुए व्यक्ति हैं और उन्हें अपने पद का घमंड नहीं है। वहीं दिव्यांगों की समस्याओं पर कलेक्टर ने उपसंचालक समाज कल्याण विभाग के अधिकारी को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने तुरंत दिव्यांगों की दिक्कतों को हल करने के लिए कहा।

कलेक्टर कुलदीप शर्मा ने सुनी दिव्यांगो की समस्याएं।

कलेक्टर कुलदीप शर्मा ने सुनी दिव्यांगो की समस्याएं।

जानिए क्या है मामला

दिव्यांगों ने कलेक्टर को बताया कि समाज कल्याण विभाग के माध्यम से उन्होंने 3 महीने तक सिलाई कार्य का प्रशिक्षण लिया था। ट्रेनिंग खत्म होने के बाद सिलाई मशीन और इसका प्रमाणपत्र देने का उनसे वादा किया गया था। साथ ही स्कॉलरशिप देने की बात भी कही गई थी, लेकिन 3-4 महीने बीत जाने के बाद भी दिव्यांगों को किसी तरह का कोई भी लाभ नहीं मिल पाया है। दिव्यांग अपनी इसी समस्या को लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे हुए थे। उन्होंने बताया कि उन्हें यहां तक पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

कलेक्टर ने दिव्यांगों की समस्याओं के तत्काल निराकरण के दिए निर्देश।

कलेक्टर ने दिव्यांगों की समस्याओं के तत्काल निराकरण के दिए निर्देश।

दिल्ली की है संस्था

दिव्यांगों को प्रशिक्षण देने वाली संस्था दिल्ली की है और समाज कल्याण विभाग को इसका नोडल बनाया गया था। पीड़ितों ने बताया कि वे जब हम समाज कल्याण विभाग से इस बारे में पूछते हैं, तो वे दिल्ली वालों का नाम लेते हैं, वहीं जब दिल्ली वालों से बात करते हैं, तो वे समाज कल्याण विभाग का नाम लेते हैं। इस तरह हमें लगातार घुमाया जा रहा है, जिससे हम परेशान हो चुके हैं।

दिव्यांगों को सिलाई के प्रशिक्षण के बाद भी नहीं दी गई सिलाई मशीन और सर्टिफिकेट।

दिव्यांगों को सिलाई के प्रशिक्षण के बाद भी नहीं दी गई सिलाई मशीन और सर्टिफिकेट।

उपसंचालक को लगाई फटकार

कलेक्टर कुलदीप शर्मा ने दिव्यांगों की समस्याओं को सुनकर तुरंत संज्ञान में लिया और समाज कल्याण विभाग के जिला अधिकारी को कक्ष में सबके सामने ही फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि इतने दिनों तक आखिर इन दिव्यांगों को क्यों भटकना पड़ रहा है, क्या ऐसी मजबूरी है जिसमें अधिकारी बार-बार दिल्ली का नाम लेते रहे। कलेक्टर ने कहा कि जल्द से जल्द इन सब का काम किया जाए।

दिव्यांगों को रोजगार देने का भी मिला आश्वासन।

दिव्यांगों को रोजगार देने का भी मिला आश्वासन।

कलेक्टर ने की रोजगार की व्यवस्था

जिला प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार, दिव्यांगों के लिए कलेक्टर ने तुरंत सिलाई मशीन उपलब्ध कराने की बात कही, साथ ही सभी को रोजगार देने की भी बात कही है, जिसे लेकर तत्काल कार्य शुरू कर दिया गया है। इसे लेकर उपसंचालक समाज कल्याण विभाग के अधिकारी वहां दिव्यांगों से चर्चा करने भी आए।

कलेक्टर हमारे साथ जमीन पर बैठे- दिव्यांग

दिव्यांग कुमारी रोहिणी, लक्ष्मी, मनभोतिन प्रधान, पूर्णिमा, लुकेश्वरी, लता साहू, सीता सहित सभी दिव्यांगों ने अपने अनुभव साझा करते हुए बताया कि हम तो अपनी समस्या लेकर आए थे, लेकिन कलेक्टर साहब हमारे साथ जमीन पर ही बैठ गए। उन्होंने हमारी समस्याओं को बेहद गंभीरता से सुना और तुरंत निराकरण करने की बात कही, हमारे लिए यह अनुभव बहुत ही अच्छा था।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular