Sunday, July 21, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबादो सगी बहनों की मौत... छोटी सिस्टर की हार्ट अटैक से मौत,...

दो सगी बहनों की मौत… छोटी सिस्टर की हार्ट अटैक से मौत, सदमे में दूसरे दिन बड़ी बहन ने भी तोड़ा दम

बलौदाबाजार: जिले की पलारी से एक ऐसा मामला देखने को मिला, जहां छोटी बहन की मौत की खबर सुनकर दूसरे दिन बड़ी बहन ने भी दम तोड़ दिया। आसपास के लोगों का कहना है कि दोनों बहनों में बहुत प्यार था। परिवार वाले भी दोनों बहनों को एक-दूसरे की परछाई कहा करते थे। दोनों बहने कहीं भी किसी भी समारोह कार्यक्रम में एक साथ जाती थी।

दरअसल, पलारी निवासी राम प्यारी वर्मा छोटी बहन थी। 30 नवंबर गुरुवार को राम प्यारी वर्मा (70 वर्ष) की मौत हो गई थी। उस वक्त वह एक शादी समारोह से वापस पलारी घर लौट रही थी। इसी दौरान खरोरा बस स्टैंड में हार्ट अटैक से उनकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि ये पहला कार्यक्रम था, जहां दोनों बहन साथ नहीं गए थे।

छोटी बहन के घर से थोड़ी दूर पर रहती थी बड़ी बहन

बड़ी बहन रुखमीन वर्मा छोटी बहन राम प्यारी वर्मा के घर से 10 किलोमीटर दूर ओडान में ही रहती थी। रुखमिन वर्मा बड़ी बहन होने के साथ-साथ उनकी उम्र भी 90 साल थी। मौसमी बीमारी को छोड़कर वह इस उम्र में भी शारीरिक रूप से स्वस्थ थीं।

छोटी बहन राम प्यारी वर्मा (फाइल फोटो)

छोटी बहन राम प्यारी वर्मा (फाइल फोटो)

बहन की मौत के सदमे में थी रुखमीन वर्मा

रुखमीन वर्मा कुछ दिनों से बुजुर्ग होने से चलने-फिरने में दिक्कत होने के वजह से छोटी बहन के साथ शादी समारोह में नहीं गई थी। तभी अकेले शादी से लौट रही छोटी बहन की मौत की खबर से बड़ी बहन इस सदमे से उबर नहीं पाई और दूसरे दिन ही उसकी भी मौत हो गई।

बड़ी बहन का किया गया अंतिम संस्कार।

बड़ी बहन का किया गया अंतिम संस्कार।

बड़ी बहन का आज होगा अंतिम संस्कार

रुखमीन और रामप्यारी वर्मा चार बहन थी। जिसमें से कोविड के दौरान एक बहन की मौत हो गई थी। वहीं अब इन दोनों बहन भी एक साथ दुनिया को अलविदा कह दिया। दोनों बहनों की अटूट प्रेम को जानने वालों के लिए उनकी मौत की खबर बेहद दुखी करने वाला है।

घर परिवार के लोग जो छोटी बहन राम प्यारी वर्मा की अंतिम संस्कार में आए थे, वे बड़ी बहन की अंतिम संस्कार में शामिल होने उनके गांव ओडान गए हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular