Saturday, May 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: रिश्तेदार से कार मांगकर दिया वारदात को अंजाम.. गाड़ी खरीदने दोस्त...

छत्तीसगढ़: रिश्तेदार से कार मांगकर दिया वारदात को अंजाम.. गाड़ी खरीदने दोस्त को अगवा कर मांगे 20 लाख, 4 गिरफ्तार

धमतरी: गाड़ी खरीदने के लिए एक नाबालिग ने अपने ही 17 वर्षीय दोस्त का अपहरण कराया और उसके परिजनों से 20 लाख की फिरौती मांगी। घटना के बाद साढ़े 4 महीने से फरार 4 आरोपियों को पुलिस ने रायपुर से ही पकड़ा है। गिरफ्तार आरोपी में 2 नाबालिग भी शामिल हैं। इसमें एक मुख्य मास्टर माइंड भी है, जो पीड़ित के गांव का ही है। पुलिस ने घटना में उपयोग की गई लग्जरी कार जब्त की है। यह कार आरोपी तोषण ने अपने रिश्तेदार से किराए पर ली थी।

चौकी बिरेझर पुलिस के मुताबिक अपहरण की यह घटना 21 जून की है। कुरूद के अछोटी निवासी नारायण साहू ने पुलिस को सूचना दी कि अज्ञात लोगों ने 17 वर्षीय बेटे का अहपरण किया है। छोड़ने की एवज में 20 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई है। यह खबर मिलते ही जिले के पुलिस अधिकारी सक्रिय हो गए। अपहृत नाबालिग की मोबाइल की लोकेशन बेमेतरा जिले के बेरला में मिली, तो साइबर टीम ने रायपुर और बेमेतरा जिले के पुलिस अफसरों से संपर्क कर सहयोग मांगा।

बीच रास्ते नाबालिग को छोड़ भागे आरोपी
सायबर प्रभारी एसआई नरेश बजारे ने बताया कि आरोपी तोषण ठाकुर, सुरेंद्र साहू व 2 नाबालिगों ने गाड़ी खरीदने नाबालिग दोस्त का अपहरण किया। फिर परिजनों से फिरौती की रकम मांगने अपराधिक षड्यंत्र रचा। सुनियोजित तरीके से अपहृत बालक की लोकेशन उसके परिजन व दोस्तों से लेकर अपने साथी आरोपियों को शेयर की। नाबालिग के परिजनों से 20 लाख रुपए की मांग की। इतनी बड़ी रकम देने में नारायण साहू असमर्थ हुए। उन्होंने घटना की जानकारी कुरूद पुलिस को दी। इसके बाद चारों तरफ नाकेबंदी की गई। आरोपी नाबालिग को बेरला क्षेत्र में बीच रास्ते छोड़कर भाग निकले। भागने से पहले उसे मारने की धमकी दी। करीब 15 मिनट बाद पुलिस ने नाबालिग को बरामद किया, जब तक सभी आरोपी फरार हो चुके थे।

आरोपियों को गिरफ्तार कर भेजा जेल
पुलिस ने अपहरण मामले में आरोपियों को साढ़े 4 महीने बाद गिरफ्तार किया है। आरोपी तोषण पिता कौशल ठाकुर निवासी साईनाथ काॅलोनी कोटा रायपुर, सुरेंद्र पिता पुन्नीराम साहू निवासी केन्द्रीय जल योजना भवानी नगर कोटा रायपुर सहित 2 नाबालिग आरोपी को गिरफ्तार किया है। मुख्य मास्टर माइंड नाबालिग निकला, जो पीड़ित नाबालिग का दोस्त है और साथ पढ़ाई करता था। पुलिस ने आरोपियों से सीजी 16 सीजी 3035 हुंडई कार भी जब्त की है। धारा 363, 384ए के तहत सभी आरोपियों को जेल भेजा गया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular