Saturday, July 20, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाBCC News 24: छत्तीसगढ़- नेता जी स्वीट्स में कारिगरों के शोषण का...

BCC News 24: छत्तीसगढ़- नेता जी स्वीट्स में कारिगरों के शोषण का खुलासा.. कैद कर रखने और रुपए ने देने से परेशान 13 श्रमिक छत से कूदकर भागे; वीडियो बनाकर सामाजिक कार्यकर्ता से मांगी थी मदद, अब पुलिस की कार्रवाई का इंतजार

छत्तीसगढ़: रायपुर के कटोरा तालाब स्थित नेता जी स्वीट्स में कारिगरों को कैद कर रखने और रुपए ने देने का मामला सामने आया है। दुकान के मालिक राहुल से परेशान होकर मजदूरों ने एक वीडियो बनाकर सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका शुक्ला से मदद मांगी तो मामले का खुलासा हुआ। वीडियो में मजदूर दावा कर रहे हैं कि नेता जी स्वीट्स में उन्हें तीन महीने से रुपए नहीं दिए गए, मारपीट की जाती है, दुकान का मालिक राहुल उन्हें यहीं रखे हुए है जाने नहीं दे रहा। श्रमिकों ने दावा किया कि पिछले महीने 13 कारिगर छत से कूदकर भाग गए।

ट्रेन से मजदूर घरों को रवाना किए गए, साथ हैं सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका।

ट्रेन से मजदूर घरों को रवाना किए गए, साथ हैं सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका।

वीडियो में नजर आ रहे कारिगर यूपी के बुलंदशहर और बंगाल के हैं। करीब 8 श्रमिकों के यहां फंसे होने की जानकारी मिली तो सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका शुक्ला ने उन्हें रेस्क्यू करने के लिए पुलिस से संपर्क किया। सोमवार की रात सिविल लाइंस थाने की टीम दुकान के पास पहुंची और श्रमिकों को निकाला गया। अब ट्रेन के जरिए श्रमिक अपने घरों को रवाना हो गए हैं। हालांकि सामाजिक कार्यकर्ता और पेशे से वकील प्रियंका ने बताया कि पुलिस ने अब तक इस मामले में दुकान के मालिक पर कोई कार्रवाई नहीं की, न केस दर्ज किया। यहां पहले भी मजदूरों के साथ शोषण के इस तरह के मामले सामने आ चुके हैं।

पुलिस बोली बंधुवा मजदूर वाली बात ही नहीं
सिविल लाइंस के प्रभारी सत्य प्रकाश तिवारी ने बताया कि दुकान जाकर हमने जांच की। वहां बुलंद शहर और बंगाल के 8 श्रमिक मिले ये मिठाई बनाने का काम करते थे। दुकानदार ने बताया कि यूपी के कुछ कारिगर यहां से पैसे लेकर भाग गए थे, इसलिए एक महीने देर से पेमेंट देने की बात थी। मैंने बात की मजूदरों ने कहा कि उन्हें उनके रुपए चाहिए, हमने उन्हें रुपए दिलवा दिए मजदूरों ने कहा कि वो घर जाना चाहते हैं, उन्हें रवाना कर दिया गया। बंधुवा मजदूर वाली कोई बात ही नहीं थी।

तो छत से कूदकर न भागते श्रमिक
इस पूरे मामले में सामाजिक कार्यकर्ता प्रियंका ने बताया कि श्रमिक घर लौट चुके हैं ये राहत की बात है। मगर वीडियो में कारिगर बता रहे हैं कि उनके साथ मारपीट की जाती है, उन्हें घर जाने नहीं दिया जाता, पैसे नहीं दिए जाते। खुद कारिगर बता रहे हैं कि नमकीन का काम करने वाले 13 लोग दो मंजिला दुकान की छत से कूदकर भागे हैं, उन्हें अगर कैद नहीं किया गया था तो वो छत से कूदते क्यों, मामला दबाने की कोशिश की गई, जब दुकानदार के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular