Tuesday, July 16, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाजांजगीर-चांपा न्यूज़: अंधेकत्ल का खुलासा... ऑटो चालक ने विवाद में की सवारी...

जांजगीर-चांपा न्यूज़: अंधेकत्ल का खुलासा… ऑटो चालक ने विवाद में की सवारी यात्री की हत्या, बचने के लिए सिर मुंडवा कर छिपाई पहचान; गिरफ्तार

जांजगीर-चांपा: जिला के पंतोरा चौकी के भारत माला सड़क में 36 घंटे पहले ऑटो चालक की हुई अंधेकत्ल को सुलझा लिया है। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए आरोपी ऑटो चालक शंकर शास्त्री को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस दफन शव को निकालकर उसका डीएनए टेस्ट कराएगी।

पुलिस ने बताया कि ऑटो चालक ने यात्री की हत्या कर खुद की हत्या की साजिश रची थी। आरोपी ऑटो चालक ने पुलिस पूछताछ में बताया कि मृतक सवारी का नाम चुरामन साव था। वह झारखण्ड से बिलासपुर पंहुचा था। 25 दिसंबर की रात 7 बजे कोरबा जाने की तैयारी में था, लेकिन बस और ट्रेन नहीं होने के कारण शंकर शास्त्री के ऑटो को 1200 रुपये किराया लेकर कोरबा जा रहा था।

सवारी आरोपी को दे रहा था गाली

बिलासपुर से निकलने में बाद ऑटो कई बार रुक-रुक कर चल रही थी। इसके कारण सवारी चुरामन साव बड़बड़ाते हुए गाली दे रहा था। बार-बार गाली सुनकर ऑटो चालक में आ गया। सवारी चुरामन को मारने के लिए पहले ऑटो को पलटी कर दी। फिर उसके सिर में पत्थर पटक कर हत्या कर दी। लाश की पहचान छिपाने सिर को पत्थर से कुचल भी दिया था।

अपना सामान मृतक के पास छोड़ फरार हुआ ऑटो चालक

इससे बचने के लिए ऑटो चालक ने मृतक से अपने कपड़े बदलकर मौके से फरार हो गया था। आरोपी ने अपना कपड़ा, आधार कार्ड और मोबाइल मृतक के पास छोड़ दिया, जिसके कारण पुलिस ही नहीं उसके परिजन भी धोखा खा गए। परिजन ने शंकर शास्त्री का शव समझ कर दफन कर दिया।

मामूली विवाद में सवारी की हत्या की

इस मामले के खुलासा होने के बाद आरोपी ने खुद को ऑटो चालक शंकर शास्त्री होना बताया और मृतक को चुरामन साव होना बताया। एसपी ने बताया कि आरोपी ने मामूली विवाद और गुस्से के कारण हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस ने झारखण्ड के चुरामन साव के परिजनों को बुलाया है। वहीं दफन शव की पहचान करने कार्यपालक दंडाधिकारी से खुदाई की अनुमति मांगी है।

भारत माला सड़क में 25- 26 दिसंबर की दरम्यानी रात पलटी हुई ऑटो के सामने सिर कुचला हुआ शव मिला था।

भारत माला सड़क में 25- 26 दिसंबर की दरम्यानी रात पलटी हुई ऑटो के सामने सिर कुचला हुआ शव मिला था।

ये था पूरा मामला

दरअसल, पंतोरा चौकी के भारत माला सड़क में 25- 26 दिसंबर की दरम्यानी रात पलटी हुई ऑटो और उसके ड्राइविंग सीट पर बैठे व्यक्ति की सिर कुचली लाश मिली थी। सूचना के बाद पंतोरा पुलिस ने ऑटो के मालिक शंकर शास्त्री के परिजनों और साथियों को मौके पर बुलाकर शव की पहचान कारवाई गई थी।

सिर में गंभीर चोट लगने और पहने हुए कपड़े को देख कर परिजनों ने शव की पहचान ऑटो चालक शंकर शास्त्री के रूप में किया था। पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम के बाद परिजनों के सुपुर्द कर दिया था। परिजनों ने अपने गांव बिलासपुर भाठापारा में शव को दफन कर दिया था। पुलिस ने ऑटो चालक की हत्या के मामले को दर्ज कर आरोपी की तलाश कर रही थी।

सीसीटीवी फुटेज से हुआ मामले का खुलासा

पुलिस ने बिलासपुर, बलौदा और पंतोरा के सीसीटीवी फुटेज को खंगाला। फुटेज में ऑटो में चालक के साथ एक सवारी भी दिखाई दिया। साइबर पुलिस को रात में झारखंड के चुरामन साव का मोबाइल लोकेशन वारदात स्थल पर मिला और उसी नंबर का वाट्सअप में कोरबा पुराना बस स्टैंड के ज्योति होटल का लोकेशन मिला। इसके आधार पर पुलिस ने चुरामन की तलाश शुरू की थी।

पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर मामले का खुलासा किया।

पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर मामले का खुलासा किया।

पुलिस ने परिजनों से कराई चुरामन साव की पहचान

इस दौरान पुलिस ने आरोपी शंकर शास्त्री के हत्या के मामले में एक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इसके बाद मृतक के परिजनों को वीडियो काल में आरोपी को दिखाकर चुरामन साव की पहचान कराई गई तो, परिजनों ने आरोपी को चुरामन साव​​​​​​​ नहीं होना बताया गया।

पुलिस से कड़ाई से पूछताछ की तो आरोपी ने खुद को ऑटो चालक शंकर शास्त्री होना बताया और मृतक को चुरामन साव होना बताया। आरोपी ने बचने के लिए अपना हुलिया बदलने के लिए सिर भी मुंडा लिया था और नागपुर भागने की फिराक में था। आरोपी के अनुसार वारादात के समय दोनों ने शराब भी पी रखी थी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular