Monday, April 15, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: SECL क्वार्टर में गिरा छज्जा... बाल-बाल बचा परिवार, जर्जर मकानों के...

कोरबा: SECL क्वार्टर में गिरा छज्जा… बाल-बाल बचा परिवार, जर्जर मकानों के चलते कर्मचारियों में भारी आक्रोश

कोरबा: जिले में SECL दीपका गेवरा कॉलोनी में क्वार्टर का छज्जा गिरने से हड़कंप मच गया। इस हादसे में परिवार बाल-बाल बच गया। जर्जर मकानों के चलते SECL कर्मियों में भारी आक्रोश है। घटना की सूचना पर SECL के अधिकारी-कर्मचारी मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली।

जानकारी के मुताबिक, दीपका गेवरा कॉलोनी के एमडी 565 क्वॉटर में एसईसीएल कर्मचारी खगेंद्र प्रसाद नायक रहते हैं। वे गेवरा परियोजना में सीनियर सर्वेयर के पद पर पदस्थ हैं। सोमवार की शाम वे ड्यूटी कर घर पहुंचे ही थे कि अचानक क्वार्टर का सामने वाला छज्जा भरभराकर गिर गया।

कोरबा जिले में SECL दीपका की गेवरा कॉलोनी में क्वार्टर का छज्जा गिरने से हड़कंप मच गया।

कोरबा जिले में SECL दीपका की गेवरा कॉलोनी में क्वार्टर का छज्जा गिरने से हड़कंप मच गया।

वहीं छज्जा गिरने की तेज आवाज सुनकर कॉलोनी वासी वहां दौड़े चले आए। SECL कर्मचारियों ने बताया कि कई घर इतने जर्जर हैं कि कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। वे डर के साए में जी रहे हैं। वहीं पीड़ित खगेंद्र प्रसाद ने बताया कि घटना के वक्त घर के आंगन में उनके 2 बच्चे खेल रहे थे, जो बाल-बाल बच गए, नहीं तो कोई बड़ा हादसा हो सकता था।

हादसे में बाल-बाल बच गया परिवार।

हादसे में बाल-बाल बच गया परिवार।

खगेंद्र प्रसाद ने आरोप लगाया कि एसईसीएल के मेंटेनेंस विभाग में बार-बार शिकायत किए जाने के बावजूद भी कोई ध्यान नहीं दिया गया, जिसका नतीजा सामने है। अगर कोई बड़ा हादसा होता, तो इसका जिम्मेदार कौन होता? इस घटना के बाद श्रमिक संगठन और एसईसीएल के कर्मचारियों में भारी आक्रोश है। कॉलोनी वासियों की मानें तो ऐसे कई क्वार्टर हैं, जो जर्जर हालत में हैं। मेंटेनेंस के लिए कई बार शिकायत की जा चुकी है, लेकिन उसके बावजूद ध्यान नहीं दिया जा रहा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular