Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: किराएदार ने फांसी लगाकर की आत्महत्या... घर खाली करने मकान मालकिन...

कोरबा: किराएदार ने फांसी लगाकर की आत्महत्या… घर खाली करने मकान मालकिन कर रही थी परेशान, सुसाइड नोट में लगाई न्याय की गुहार

KORBA: कोरबा के कोतवाली पुलिस थाना के अंतर्गत राताखार स्थित अटल आवास में एक उम्रदराज व्यक्ति ने फांसी लगाकर जान दे दी। मृतक के पास से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है। मकान खाली कराए जाने को लेकर बार-बार परेशान करने से वह दुखी था। सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंच पंचनामा के बाद शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया।

जानकारी के मुताबिक राताखार में सरकार की ओर से निर्माण अटल आवास के आवास क्रमांक 177 का आवंटन किसी सावित्री नामक महिला को किया गया था। महिला ने सनत पांडे (67 साल) को किराए पर यह मकान दिया था।

मकान खाली करने महिला कर रही थी परेशान

एक किराएदार अविनाश पांडे ने बताया कि मकान मालकिन के कई और मकान हैं। हम लोग उसके मकान में किराए से रह रहे थे, जो सरकारी योजना में मिला हुआ था। मकान को खाली करने के लिए वह लगातार परेशान कर रही थी।

जांच के लिए पहुंची पुलिस

जांच के लिए पहुंची पुलिस

मृतक के पास मिला सुसाइड नोट

कोतवाली पुलिस की टीम सूचना के बाद मौके पर पहुंची और पंचनामा किया। पुलिस ने शव को फंदे से उतारा। जांच के दौरान पुलिस को मृतक के सीने पर कपड़े से ढंका हुआ एक सुसाइड नोट मिला। सुसाइड नोट में मृतक ने मरने से पहले मकान मालकिन के प्रताड़ना और उसके कहने पर दो युवकों के द्वारा प्रताड़ित करने का जिक्र किया है। साथ ही पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है।

अन्य लोगों से पूछताछ करती पुलिस।

अन्य लोगों से पूछताछ करती पुलिस।

पीएम रिपोर्ट और आगे की जांच के बाद करेगी कार्रवाई

कोतवाली थाना प्रभारी अभिनव कान्त सिंह ने बताया कि मृतक के पास से सुसाइड नोट बरामद किया गया है। पुलिस ने मामले को संदिग्ध मानते हुए मर्ग कायम किया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और आगे की जांच के बाद पुलिस इस मामले में आवश्यक कार्रवाई करेगी।

पुलिस ने पंखे से उतारा व्यक्ति का शव

पुलिस ने पंखे से उतारा व्यक्ति का शव

अटल आवास के तहत घरों का हुआ था आवंटन

बता दें कि जिले के राताखार में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों के लिए पिछले वर्षों में सरकार की ओर से अटल आवास का निर्माण कराया गया था। जहां पात्रता सुनिश्चित करने के बाद उसका आवंटन किया गया। इस मामले में अलग-अलग कारणों से गड़बड़ी हुई और अपात्र लोग आवास की सुविधा पाने में सफल हो गए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular