Tuesday, June 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: शासकीय योजनाओं के संचालन में कोताही स्वीकार्य नहीं, पात्र लोगों तक...

कोरबा: शासकीय योजनाओं के संचालन में कोताही स्वीकार्य नहीं, पात्र लोगों तक पहुंचे लाभ, यह अंतिम रूप से करें सुनिश्चित – आयुक्त

  • आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय ने अधिकारियों की बैठक लेकर शासकीय योजनाओं, निगम के विकास व निर्माण कार्यो एवं नागरिक सेवाओं व सुविधाओं से जुड़े कार्यो की कार्यप्रगति की समीक्षा की

कोरबा (BCC NEWS 24): आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय ने अधिकारियों को कडे़ निर्देश देते हुए कहा है कि शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लोगों तक अनिवार्य रूप से पहुंचे, शासन की मंशा के अनुरूप पात्र हितग्राही योजनाओं के लाभ से लाभान्वित हों, यह अंतिम रूप से सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि शासकीय योजनाओं के संचालन में किसी भी प्रकार की उदासीनता स्वीकार्य नहीं की जाएगी। आयुक्त श्री पाण्डेय ने जनसमस्याओं का निराकरण सर्वप्राथमिकता के साथ करने, विकास व निर्माण कार्येा में तेजी लाने, साफ-सफाई कार्यो में अपेक्षित सुधार करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए।

आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय ने आज नगर पालिक निगम कोरबा के मुख्य प्रशासनिक भवन साकेत स्थित सभाकक्ष में  अधिकारियों की बैठक लेकर शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं की योजनावार विस्तार से समीक्षा की। उन्होने गोधन न्याय योजना, श्री धन्वंतरी योजना, मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री मितान योजना, अमृत मिशन, स्वनिधि योजना सहित अन्य विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। आयुक्त श्री पाण्डेय ने गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए सभी गोबर खरीदी केन्द्रों में नियमित रूप से गोबर की खरीदी, वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण एवं खाद की बिक्री की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि केन्द्रों में गोबर की खरीदी नियमित रूप से हों, खाद का विक्रय सुनिश्चित किया जाए तथा गोबर व खाद का सुरक्षित भण्डारन करने के साथ ही जिम्मेदार अधिकारी इन केन्द्रों के कार्यो की नियमित मानीटरिंग अनिवार्य रूप से करें।

आयुक्त श्री पाण्डेय ने मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निर्देश दिए कि मोबाईल मेडिकल यूनिटों में दवाओं की  उपलब्धता सुनिश्चित रहें, यूनिट में पहुंचने वाले नागरिकों से सम्मानजनक व्यवहार हो, उनकी निःशुल्क जांच एवं आवश्यकतानुसार दवाईयों का वितरण किया जाए, किसी प्रकार की शिकायत सामने न आए। आयुक्त श्री पाण्डेय ने मुख्यमंत्री मितान योजना, श्री धन्वंतरी योजना की भी समीक्षा की तथा आवश्यक दिशा निर्देश अधिकारियो को दिए। उन्होने प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते हुए ए.एच.पी.घटक अंतर्गत हितग्राहियों को आबंटित मकानों में उनकी शिफ्ंिटग कराने के निर्देश देने के साथ ही कहा कि ए.एच.पी.घटक अंतर्गत निर्माणाधीन आवासगृहों में शेष बचे कार्यो में तेजी लाकर कार्यो को पूरा कराए, साथ ही आबंटन की कार्यवाही भी संपादित कराएं। उन्होने बी.एल.सी.घटक अंतर्गत स्वीकृत सभी आवासगृहों के कार्य प्रारंभ कराने, समयसीमा में पूरा करने तथा संबंधित हितग्राहियों को निर्धारित समय पर राशि का भुगतान सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश भी अधिकारियों केा दिए।

शहर की स्वच्छता व सफाई कार्यो के प्रति कड़ा रूख – आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय ने बैठक के दौरान निगम के साफ-सफाई कार्याे की समीक्षा करते हुए सफाई कार्यो के प्रति उदासीनता एवं निर्धारित मानदण्डों के अनुरूप सफाई कार्य न होने की शिकायतों पर कड़ा रूख अख्तियार करते हुए जोन कमिश्नरों, स्वच्छता अधिकारियों को कडे़ निर्देश दिए कि साफ-सफाई कार्यो के प्रति पूर्ण रूप से गंभीर हो जाएं, डोर-टू-डोर अपशिष्ट संग्रहण के कार्य में कसावट लाएं, मुख्य मार्गो, सड़कों व नालियों की साफ-सफाई निर्धारित मानदण्डों के अनुरूप हों, सफाई कार्य के पश्चात कचरे का तत्काल उठाव व परिवहन हों, यह अंतिम रूप से सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि स्वच्छता कार्यो में लापरवाही पर संबंधित सफाई एजेंसी व जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्यवाही की जाएगी।

राजस्व वसूली में तेजी लाएं – आयुक्त श्री प्रभाकर पाण्डेय ने निगम की राजस्व वसूली की कार्यप्रगति की समीक्षा करते हुए राजस्व अधिकारियों को कडे़ निर्देश दिए कि राजस्व वसूली कार्यो में अपेक्षित तेजी लाएं, सम्पत्तिकर सहित अन्य करों एवं भवन व दुकान के किराये की राशि निगम कोष में समय पर जमा हों, इस हेतु सभी आवश्यक कदम उठाएं। आयुक्त श्री पाण्डेय ने करदाताओं से भी अपील करते हुए कहा है कि वे निगम को देय करों का भुगतान नियमित रूप से करें तथा नगर के विकास व नागरिक सुविधाओं की उपलब्धता बनाए रखने में अपना महत्वपूर्ण सहयोग दे।

विकास व निर्माण कार्यो की समीक्षा – आयुक्त श्री पाण्डेय ने निगम के विभिन्न विकास व निर्माण कार्यो की जोनवार व मदवार समीक्षा की। उन्होने प्रस्तावित व स्वीकृत कार्यो की निविदा प्रक्रिया पूर्ण करने, प्रगतिरत कार्यो में तेजी लाने, अप्रारंभ कार्यो को तत्काल प्रारंभ कराने, कार्य के दौरान वर्क क्वालिटी व समयसीमा का विशेष ध्यान रखने के निर्देश देते हुए अभियंताओं से कहा कि वे कार्यो की नियमित मानीटरिंग करें अपनी देखरेख में कार्यो का संपादन कराएं तथा यह अंतिम रूप से सुनिश्चित करें कि सभी निर्माण कार्ये गुणवत्तापूर्ण हों।

बैठक के दौरान अपर आयुक्त खजांची कुम्हार, अधीक्षण अभियंता एम.के.वर्मा, उपायुक्त पवन वर्मा, जोन कमिश्नर आर.के.माहेश्वरी, एम.एन.सरकार, विनोद शांडिल्य, अखिलेश शुक्ला, तपन तिवारी, एन.के.नाथ, कार्यपालन अभियंता भूषण उरांव, संपदा अधिकारी श्रीधर बनाफर, स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.संजय तिवारी, सुनील वर्मा, सहायक अभियंता डी.सी.सोनकर, प्रकाश चन्द्रा, राकेश मसीह, एच.आर.बघेल, लीलाधर पटेल, सहायक लेखाधिकारी अशोक देशमुख, राजस्व अधिकारी अशोक बनाफर, रघुराज सिंह, अनिरूद्ध सिंह, के.एस.क्षत्री, अभियंता राहूल मिश्रा, पीयूष राजपूत, यशवंत जोगी, देवेन्द्र  स्वर्णकार, सुनील टांडे आदि के साथ अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे। 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular