Wednesday, April 24, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाBCC News 24: CG न्यूज़- सड़क किनारे पुलिस को मिली डेढ़ साल...

BCC News 24: CG न्यूज़- सड़क किनारे पुलिस को मिली डेढ़ साल की बच्ची.. दंपति के बीच झगड़ा हुआ और छोड़कर चले गए, जांच में पता चला किसी और की बेटी को उठाकर लाए थे

छत्तीसगढ़: दंतेवाड़ा जिले में नेशनल हाईवे 163 के किनारे पुलिस को एक डेढ़ साल की बच्ची लावारिश हालत में मिली है। बताया जा रहा है कि, एक दंपति बच्ची को लेकर पैदल इसी रास्ते से कहीं जा रहे थे। दोनों के बीच झगड़ा हुआ और उन्होंने गीदम तहसील कार्यालय के पास सड़क किनारे बच्ची को छोड़ दिया। पुलिस को जानकारी मिली तो अस्पताल पहुंचाया, फिर चाइल्ड लाइन में छुड़वाया। हालांकि, कुछ ही घंटों के अंदर बच्ची को उसके माता-पिता के सुपुर्द कर दिया गया। मामला गीदम थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, जगदलपुर-बीजापुर नेशनल हाईवे पर कुछ लोग रात में टहल रहे थे। जिन्होंने किसी बच्चे के रोने की आवाज सुनी। जब यहां-वहां नजर घुमाए तो तहसील कार्यालय के पास एक दुकान के सामने जमीन पर बच्ची दिखी। शहर के लोगों के बच्ची के मिलने की सूचना गीदम पुलिस को दी। मौके पर जवान पहुंचे जिन्होंने बच्ची को गीदम सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। बच्ची के माता-पिता का पता लगाने पर जब जानकारी नहीं मिली तो दंतेवाड़ा चाइल्ड लाइन में संपर्क कर बच्ची को उनके पास छोड़ दिया गया।

बच्ची को उसकी मां के सुपुर्द कर दिया गया है।

बच्ची को उसकी मां के सुपुर्द कर दिया गया है।

एक दंपति के हाथ में देखे थे बच्ची को
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि, जब बच्ची के माता-पिता के बारे में पता लगाया जा रहा था तो कुछ शहरवासियों ने बताया एक दंपति के हाथों में उन्होंने बच्ची को देखा था। दोनों झगड़ा करते हुए पैदल जा रहे थे। ये लोग तहसील कार्यालय के पास बैठे थे। गुस्से में पति उठकर कहीं चला गया था। महिला बच्ची के साथ थी। लेकिन, कुछ देर बाद वो भी कहीं जाती हुई दिखी थी। पुलिस ने आस-पास के लोगों से और पूछताछ की, फिर नजदीकी बारसूर थाना में भी इसकी जानकारी दी।

जांच में पता चला किसी और की थी बेटी
दरअसल, जब पुलिस बच्ची के माता पिता का पता लगा रही थी तो इसी बीच बारसूर थाना इलाके के हितामेटा गांव की एक महिला दंतेवाड़ा में चाइल्ड लाइन पहुंची। बच्ची उसकी है कहने का दावा की। महिला ने बताया कि वो रविवार की रात बस से जगदलपुर से गीदम आ रही थी। गीदम बस स्टैंड में उतरी। तबियत ठीक नहीं लगी तो बस स्टैंड में ही कुछ देर के लिए लेटी थी, उसे नींद आ गई। बच्ची को भी अपने बगल सुलाई थी। जब थोड़ी देर बाद आंख खुली को बच्ची पास में नहीं दिखी।

यहां-वहां पता लगाने पर भी नहीं मिली। किसी तरह अपने गांव हितामेटा पहुंच गई और पति के साथ जाकर बारसूर थाने में भी मामले की सूचना दी। दूसरे दिन सोमवार की रात सरपंच ने बेटी के मिलने की जानकारी दी। जिसके बाद दंतेवाड़ा आई। बच्ची को उसकी मां के सुपुर्द कर दिया गया है। इधर पुलिस उस दंपति का पता लगा रही है जिन्होंने बच्ची को वहां छोड़ा था।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular