Thursday, June 20, 2024
Homeछत्तीसगढ़रायपुर: वायदे से किया ज्यादा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर: वायदे से किया ज्यादा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

  • मुख्यमंत्री शामिल हुए भारत-24 के ‘विजन न्यू छत्तीसगढ़‘ कार्यक्रम में

रायपुर: मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि छत्तीसगढ़ की जनता से जो वायदें किए गए थे, उनसे ज्यादा काम राज्य सरकार ने अपने पांच वर्षों में किया। मुख्यमंत्री ने आज भारत-24 निजी चैनल के ‘विजन न्यू छत्तीसगढ़‘ कार्यक्रम में यह बात कही। उन्होंने कहा कि कर्जमाफी, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी, राजीव गांधी किसान न्याय योजना के माध्यम से किसानों को उनकी उपज का वाजिब दाम दिलाया, भूमिहीन मजदूर न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, लघु वनोपजों और मिलेट्स की समर्थन मूल्य पर खरीदी, उनका प्रसंस्करण और वैल्यूएडिशन, तेन्दूपत्ता का पारिश्रमिक बढ़ाकर 4000 रूपए प्रति मानक बोरा किया। राज्य सरकार ने अपनी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से एक लाख 75 हजार करोड़ रूपए की राशि लोगों की जेब में सीधे डाली गई। संस्कृति मंत्री श्री अमरजीत भगत भी कार्यक्रम में उपस्थित थे।

रायपुर
रायपुर
रायपुर

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने एक प्रश्न के जवाब में कहा कि नक्सल क्षेत्रों में आदिवासियों, व्यापारियों, युवाओं, पत्रकारों, अधिकारियों-कर्मचारियों से बात कर हमने नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में विश्वास, विकास और सुरक्षा की रणनीति अपनायी। इससे जनता का समर्थन मिला और नक्सली एक छोटे से क्षेत्र में सिमटकर रह गए हैं। नक्सल क्षेत्रों के अंदरूनी गांवों और अबूझमाड़ में सड़कें बनायी गई। पहले इन क्षेत्रों के निवासी मानते थे कि सड़कें पैरा मिलेट्री फोर्स के लिए बनी है, इसलिए सड़के काट दी जाती थी। लेकिन आज सड़कें इन क्षेत्रों के निवासियों की जरूरत बन गई हैं। क्योंकि उनके दोपहिया, चार पहिया वाहन, ट्रैक्टर इन्हीं सड़कों पर दौड़ते हैं। शासन की योजनाओं से जनता के पास पैसे पहुंचे, इससे इन क्षेत्रों में बड़ा बदलाव आया है। बीजापुर क्षेत्र में जहां पहले सायकल के शो रूम नहीं होते थे, वहां आज ट्रैक्टर के आठ-आठ शो रूम हैं। अबूझमाड़ क्षेत्र में सर्वे कराकर ग्रामीणों को मसाहती पट्टे दिए गए, जिससे उन्हें शासन की योजनाओं का लाभ मिलना प्रारंभ हो गया। उनकी उपजों की खरीदी समर्थन मूल्य पर होने लगी है, भूमि का समतलीकरण हो रहा हैं, सिंचाई पंप लग रहे है। स्कूल, अस्पताल जैसी सुविधाएं यहां पर विकसित की गई है। पहले इन क्षेत्रों के लोग बात करने से डरते थे। आज ये आंख से आंख मिलाकर बात करते है। आज इन क्षेत्रों में सबसे बड़ी मांग बैंकों और बच्चों की शिक्षा के लिए स्वामी आत्मानंद स्कूलों की हो रही है।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने न्यू छत्तीसगढ़ के विजन के संबंध में कहा कि राज्य सरकार ने अपनी योजनाओं के माध्यम से गरीबों, किसानों, मजदूरों सहित समाज के सभी वर्गों के अनेक योजनाएं प्रारंभ की, जिनसे उन्हें बड़ा संबल मिला है। हमने शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य सहित अधोसंरचना विकास के काम बड़े पैमाने में किए हैं। अभी और भी काम करने की जरूरत है। ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश में 300 रूरल इंडस्ट्रीयल पार्क प्रारंभ किए हैं, जहां व्यवसायों के लिए लोगों को सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही है। आने वाले समय छत्तीसगढ़ के विकास में रूरल इंडस्ट्रीयल पार्क मील का पत्थर साबित होंगे। शिक्षा के क्षेत्र में 750 से अधिक स्वामी आत्मनंद अंगेजी-हिन्दी स्कूलों में 4.50 लाख विद्यार्थी गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ में किसानों को धान और गन्ना सहित उनकी उपज का सबसे ज्यादा मूल्य मिल रहा है। हमारी योजनाओं से धान सहित विभिन्न उपजों का रकबा ही नहीं उत्पादन भी बढ़ा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में बीपीएल के साथ एपीएल के राशन कार्ड भी बनाये और उन्हें आधार से लिंक किया गया। यदि परिवार बढ़ता है तो तुरंत राशन कार्ड बनाया जा सकता है। राज्य सरकार सभी को साथ लेकर चल रही है। छत्तीसगढ़ की संस्कृति और परंपरा का संरक्षण और संवर्धन किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में कानून का राज है।

इस अवसर पर भारत-24 के सीईओ डॉ. जगदीश चन्द्रा सहित चैनल के पदाधिकारी और प्रबुद्ध नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आयोजकों की ओर से विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली प्रतिभाओं को सम्मानित किया।      

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular