Monday, June 17, 2024
Homeछत्तीसगढ़रायपुर : समस्याओं के त्वरित निराकरण से जिले में प्रगति दिखाई देगी...

रायपुर : समस्याओं के त्वरित निराकरण से जिले में प्रगति दिखाई देगी – स्कूल शिक्षा सचिव परदेशी

  • नियम कानून पढ़ने पर ही सही निर्णय ले सकते हैं
  • बच्चों को रचनात्मक अवसर देने ज्यादा से ज्यादा समर कैंप का आयोजन किया जाए
  • संयुक्त संचालक व जिला शिक्षा अधिकारियों के राज्य स्तरीय प्रशिक्षण सम्पन्न

रायपुर: स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने आज छत्तीसगढ़ प्रशासन अकादमी में संभाग और जिले के अधिकारियों के 5 दिवसीय राज्य स्तरीय प्रशिक्षण सत्र समापन अवसर पर कहा कि स्कूल शिक्षा विभाग में प्रशासनिक कार्यों के बेहतर क्रियान्वयन के लिए संभाग और जिले के अधिकारियों का प्रशिक्षण आवश्यक है। अब ब्लॉक स्तर के अधिकारियों का भी प्रशिक्षण आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि नियम कानून की जानकारी रहने पर ही सही निर्णय लिया जा सकता है। इससे काम तेजी से होगा और प्रगति दिखाई देगी।

नियम कानून पढ़ने पर ही सही निर्णय ले सकते हैं

श्री परदेशी ने इस बात पर जोर दिया कि अधिकारियों को यह जानना भी आवश्यक है कि कौन किस कार्यों के लिए सक्षम हैं। अपने अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत दी गई शक्तियों के अनुसार हमें निर्णय लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि स्कूल शिक्षा विभाग में पदोन्नति प्रक्रिया का अब अध्ययन करने की आवश्यकता है। स्कूल शिक्षा सचिव ने कहा कि बच्चों को रचनात्मक अवसर देने के लिए ज्यादा से ज्यादा समर कैंप का आयोजन किया जाए। उन्होंने सभी से आशा व्यक्त की कि अब हम बच्चों और शिक्षकों के लिए त्वरित उचित निर्णय लेंगे। श्री परदेशी ने आगे कहा कि 5 दिवस का प्रशिक्षण प्राप्त कर कुशल प्रशिक्षक बन गए हैं, अब विकासखंड शिक्षा अधिकारियों सहित सभी ब्लॉक स्तर के अधिकारियों को अपने स्तर पर प्रशिक्षण आयोजित कर सकते हैं।

संचालक लोक शिक्षण श्रीमती दिव्या उमेश मिश्रा ने कहा कि प्रशिक्षण में प्राप्त ज्ञान का उपयोग बेहतर तरीके से करेंगे। अब शत प्रतिशत योजनाओं को गति देने में आसानी होगी संभाग और जिले के शिक्षा अधिकारियों 5 दिन में रिफ्रेश होकर नई ऊर्जा के साथ कार्य करेंगे।

प्रशासन अकादमी के डायरेक्टर श्री टी. सी. महावर ने कहा कि विभाग की आवश्यकता अनुसार प्रशिक्षण का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने सभी प्रशिक्षणार्थियों से अनुशासन में रहकर नियमों का पालन किए जाने की अपेक्षा करते हुए कार्यालय की प्रबंधन क्षमता और वित्तीय अनुशासन बनाए रखने का सुझाव दिया।

समारोह के प्रारंभ में संकाय सदस्य डॉ अभिषेक दुबे ने पांच दिवसीय प्रशिक्षण के विषयों पर जानकारी दी। कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा विभाग की उप सचिव श्रीमती इफ्फत आरा, अतिरिक्त संचालक डॉ. योगेश शिवहरे, उप संचालक श्री आशुतोष चावरे, श्री अशोक नारायण बंजारे, श्री प्रशांत पांडेय, अकादमी के कोर्स डायरेक्टर श्री अभिषेक दुबे, डॉ. सीमा सिंह और   नोडल प्रभारी श्री डी. दर्शन भी उपस्थित थे। प्रशिक्षण में बिलासपुर के संयुक्त संचालक श्री आर.पी. आदित्य, बलौदा बाजार के जिला शिक्षा अधिकारी श्री हिमांशु भारतीय, बस्तर की सुश्री भारती प्रधान और कोरबा के श्री तामेश्वर उपाध्याय ने पांच दिवसीय प्रशिक्षण पर अपना अभीमत दिया। आभार प्रदर्शन उप संचालक श्री आशुतोष चावरे ने किया।

Muritram Kashyap
Muritram Kashyap
(Bureau Chief, Korba)
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular