Tuesday, April 16, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: ठिठुरती ठंड में स्कूली बच्चों को राहत.. 31 दिसंबर तक स्कूल...

CG: ठिठुरती ठंड में स्कूली बच्चों को राहत.. 31 दिसंबर तक स्कूल के समय में बदलाव, अब सुबह पौने 9 बजे से दोपहर सवा 12 बजे तक लगेगी कक्षाएं; 10 डिग्री तक गिरा पारा…

छत्तीसगढ़: गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले में पड़ रही कड़ाके की ठंड को देखते हुए जिला शिक्षा विभाग ने स्कूलों के समय में बदलाव करने का आदेश जारी किया है। अब से 31 दिसंबर तक जिले के सभी स्कूलों के समय में बदलाव किया गया है। जिसमें दो पाली में लगने वाले स्कूलों में पहली पाली सुबह पौने 9 बजे से दोपहर सवा 12 बजे तक लगेगी, जबकि शनिवार को ये कक्षाएं दोपहर साढ़े 12 बजे से शाम 4 बजे तक संचालित होगी।

वहीं दूसरी पाली साढ़े 12 बजे से शाम 4 बजे तक लगेगी, जबकि शनिवार को ये कक्षाएं सुबह पौने 9 बजे से सुबह सवा 12 बजे तक लगेगी। एक पाली वाली स्कूलें सुबह पौने 10 बजे से शाम 4 बजे तक संचालित होंगी। वही शनिवार को एक पाली वाले स्कूलों में कक्षांए पौने 9 बजे से दोपहर पौने 1 बजे तक लगेगी। जिले में इन दिनों पारा 10 डिग्री सेल्सियस के आसपास दर्ज किया जा रहा है और आने वाले दिनों में तापमान में और भी गिरावट आने की संभावना है। स्कूली बच्चों और अभिभावकों की दिक्कतों को देखते हुए जिला शिक्षा अधिकारी एन के चंद्रा ने स्कूलों के समय में बदलाव का आदेश जारी किया है।

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही वनांचल जिला है। यहां कई स्कूल ऐसे हैं, जो कि घने जंगलों के बीच में भी स्थित हैं। ऐसे में यहां पढ़ने आने-जाने वाले छात्र-छात्राओं को जंगल के रास्ते से होकर भी गुजरना पड़ता है। ऐसे में शाम 4 बजे तक स्कूल की टाइमिंग होने से बच्चों को खतरा भी नहीं होगा और सुबह देर से स्कूल जाने पर उन्हें काफी राहत भी मिलेगी। कई दिनों से अभिभावक स्कूल और जिला प्रशासन ने टाइमिंग में बदलाव की मांग कर रहे थे।

आने वाले दिनों में प्रदेश के कई जिलों में बारिश की भी संभावना

बंगाल की खाड़ी में उठ रहा एक चक्रवाती तूफान छत्तीसगढ़ का मौसम बदलने वाला है। इसके प्रभाव से 8 दिसंबर से प्रदेश के बस्तर और दुर्ग संभाग में बादल छा जाएंगे। अगले दिन तक इनका विस्तार पूरे प्रदेश में हो सकता है। संभावना जताई जा रही है कि 10 दिसंबर को हल्की से मध्यम स्तर की बरसात हो सकती है।

मौसम विभाग के मुताबिक, बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवाती तूफान मंडौस 8 दिसंबर को तमिलनाडु के पास पहुंचने वाला है। यह पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के तटों को प्रभावित करेगा। इसकी वजह से तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में भारी बरसात का अलर्ट जारी हुआ है। इसका असर छत्तीसगढ़ के मौसम पर भी पड़ेगा।

अन्य जिलों में भी स्कूल के टाइमिंग में बदलाव

ठंड से सबसे अधिक प्रभावित बस्तर संभाग के 7 जिले बस्तर कोंडागांव, कांकेर, दंतेवाडा, सुकमा, नारायणपुर, बीजापुर जिलों में ठंड के तेवर देखते हुए जिला प्रशासन ने स्कूल की टाइमिंग में बदलाव कर दिया। जहां पहले सुबह 7 से 7.30 बजे स्कूल शुरू हो जाते थे। तो वहीं अब इन जिलों में स्कूल की टाइमिंग सुबह 9 से 4:15 तक कर दी गई है।

नारायणपुर में सबसे कम तापमान

छत्तीसगढ़ में सबसे कम तापमान नारायणपुर जिले में दर्ज किया गया है। जहां 8.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है। वहीं अंबिकापुर में 9.8 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है। राजधानी रायपुर की बात की जाए तो रायपुर में 15.2 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है। जगदलपुर में 10.2, बिलासपुर में 13.2, दुर्ग में 14 और राजनांदगांव में 16.6 डिग्री तापमान दर्ज किया गया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular