Monday, July 15, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाअयोध्या में श्रीराम एयरपोर्ट तैयार, 22 जनवरी से पहले उड़ान... 320 करोड़...

अयोध्या में श्रीराम एयरपोर्ट तैयार, 22 जनवरी से पहले उड़ान… 320 करोड़ की लागत, योगी देखने पहुंचे; राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के कार्ड बंटने शुरू

अयोध्या में श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट तैयार। यहां से राम मंदिर पहुंचने में 15 मिनट लगेंगे।

Ayodhya: अयोध्या का मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट लगभग बनकर तैयार है। 22 जनवरी यानी प्राण-प्रतिष्ठा से पहले इससे स्टार्ट कर दिया जाएगा। इससे पहले सीएम योगी आज एयरपोर्ट पहुंचे हैं। उनके साथ केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और केंद्रीय राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह भी हैं।

CM और मंत्रियों के निरीक्षण के बाद एयरपोर्ट के उद्घाटन और उड़ान की डेट तय होगी। इसके साथ ही किराया भी तय किया जाएगा। एयरपोर्ट के अधिकारियों के अनुसार, सबसे पहले भारतीय एयरलाइन कंपनी इंडिगो दिल्ली और अहमदाबाद के लिए फ्लाइट शुरू करेगी। दिल्ली के लिए रोज और अहमदाबाद के लिए हफ्ते में तीन दिन फ्लाइट मिलेगी।

अयोध्या में योगी, अपडेट्स…

  • CM योगी सबसे पहले हनुमान गढ़ी गए। हनुमान जी की आरती कर उनका आशीर्वाद लिया।
  • हनुमानगढ़ी के बाद श्रीराम जन्मभूमि स्थित अस्थायी मंदिर में योगी ने रामलला की आरती की।
  • योगी ने बन रहे राम मंदिर का काम देखा। प्राण-प्रतिष्ठा की तैयारियों के बारे में जाना।
CM योगी और मंत्री ज्योतिरादित्य सिधिंया, वीके सिंह ने हनुमानगढ़ी में पूजा की।

CM योगी और मंत्री ज्योतिरादित्य सिधिंया, वीके सिंह ने हनुमानगढ़ी में पूजा की।

22 जनवरी को राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा है। इसके लिए लोगों को आमंत्रण भेजा जा रहा है। इसका कार्ड सामने आया है…

अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के लिए लोगों को निमंत्रण कार्ड भेजे जा रहे हैं।

अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के लिए लोगों को निमंत्रण कार्ड भेजे जा रहे हैं।

निमंत्रण कार्ड में क्या लिखा है…
निमंत्रण कार्ड के लिफाफे पर लिखा है…प्राण-प्रतिष्ठा समारोह। इसके अंदर एक पत्र है। इसमें लिखा है… आपको विदित ही है कि लंबे संघर्ष के पश्चात श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण कार्य प्रगति पर है। पौष, शुक्ल द्वादशी, विक्रम संवत 2080, सोमवार, 22 जनवरी 2024, गर्भगृह में रामलला के नूतन विग्रह की प्राण-प्रतिष्ठा की जाएगी। हमारी प्रबल इच्छा है कि आप इस पुनीत अवसर पर अयोध्या में उपस्थित रहकर प्राण प्रतिष्ठा के साक्षी बनें और महान ऐतिहासिक दिन की गरिमा बढ़ाएं।

पत्र में आगे लिखा… निवेदन है कि 21 जनवरी के पूर्व अयोध्या पधारने की योजना बनाएं। जितना शीघ्र अयोध्या आएंगे, उतनी ही आपको सुविधा होगा। विलंब से आने पर परेशानियों का का सामना करना पड़ सकता है। 23 जनवरी 2024 के पश्चात ही वापस जाने की योजना बनाएं। इस पत्र के अंत में श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव, चंपत राय के हस्ताक्षर भी हैं।

अब जानिए श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बारे में…

320 करोड़ की लागत से बन रहा एयरपोर्ट: सरकार 320 करोड़ की लागत से श्रीराम एयरपोर्ट बना रही है। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अनुसार, एयरपोर्ट की बिल्डिंग राम मंदिर की तर्ज बनाई जा रही है। एयरपोर्ट का मुख्य भवन राजस्थान के बंशी पहाड़पुर के पत्थरों से बनाया जा रहा है। एयरपोर्ट का निर्माण तीन फेस में किया जा रहा है। पहले फेस में घरेलू उड़ान की सुविधा होगी। पूरे देश के एयरपोर्ट से अयोध्या की कनेक्टिविटी होगी। यहां पर 500 यात्रियों के एक बार में आने और जाने की सुविधा होगी। टर्मिनल-1 की बिल्डिंग में 250 यात्री आ-जा सकते हैं। इस तरीके की 500 यात्रियों की सुविधा होगी।

2200 मीटर लंबा और 45 मीटर चौड़ा रन-वे बन चुका है। पहले घरेलू उड़ानें शुरू होंगी।

2200 मीटर लंबा और 45 मीटर चौड़ा रन-वे बन चुका है। पहले घरेलू उड़ानें शुरू होंगी।

  • एयरपोर्ट का 95% से ज्यादा काम पूरा: एयरपोर्ट पर इंस्ट्रूमेंट लैंडिंग सिस्टम (ILS) में शामिल विभिन्न घटकों जैसे लोकलाइजर, ग्लाइड पथ, मार्कर, डीएमई आदि का कैलिब्रेशन भी किया जा चुका है। दो फेज में इसे बनाया जा रहा। 2200 मीटर लंबा और 45 मीटर चौड़ा रन-वे बन चुका है। टर्मिनल बिल्डिंग और एयरपोर्ट में फीनिशिंग का काम 95% से ज्यादा पूरा हो गया है।
राजस्थान के बंशी पहाड़पुर के पत्थरों से एयरपोर्ट का मुख्य भवन बनाया जा रहा है।

राजस्थान के बंशी पहाड़पुर के पत्थरों से एयरपोर्ट का मुख्य भवन बनाया जा रहा है।

  • धुंध में भी आसानी से होगी लैंडिंग: एयरपोर्ट अथॉरिटी के प्रोजेक्ट इंजीनियर इंचार्ज राजीव कुलश्रेष्ठ ने बताया था कि फेज-वन के तहत ही रनवे सेफ्टी एरिया (रेसा) के मानक के तहत रनवे और कैंट वन लाइटिंग का काम किया गया है। इससे रात में और धुंध (फॉग) में भी विमानों की लैंडिंग आसानी से कराई जा सकेगी। इसके अलावा यहां पर डे और नाइट दोनों लैंडिंग की सुविधा है। एयरपोर्ट में हाईटेंशन लाइन से संबंधित जो भी शिफ्टिंग थी, वे सभी काम पूरे कर लिए गए हैं। नाइट लैंडिंग, कोहरे-धुंध में लैंडिंग के लिए कैट-वन और रनवे सेफ्टी एरिया (रेसा) का काम पूरा किया गया है। इसी तरह ATC टावर का भी काम पूरा हो गया है।
धुंध हो, रात हो या दिन... हर समय लैंडिंग के लिए रनवे तैयार है।

धुंध हो, रात हो या दिन… हर समय लैंडिंग के लिए रनवे तैयार है।

50 हजार स्क्वायर फीट में होगी फेस टू की बिल्डिंग: राजीव कुलश्रेष्ठ के अनुसार, 6600 स्क्वायर मीटर में फेस वन की बिल्डिंग का निर्माण किया गया है। पहले फेज में एयरपोर्ट में आठ एयरक्राफ्ट खड़ा होने की व्यवस्था की गई है। फेस वन के बाद फेस टू की बिल्डिंग के लिए निर्माण कार्य शुरू होगा। यह बिल्डिंग 50 हजार स्क्वायर मीटर की होगी । इसमें अंतरराष्ट्रीय उड़ान भरी जाएगी। इसके लिए रनवे 3750 मीटर के करीब का होगा। सबसे पहले घरेलू उड़ानों को शुरू किया जाएगा। इसके बाद इंटरनेशनल उड़ानों के लिए एयरपोर्ट का विस्तार फेज-3 के रूप में किया जाएगा।

श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट का काम पूरा होने के बाद इसी तरह से दिखाई देगा।

श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट का काम पूरा होने के बाद इसी तरह से दिखाई देगा।

एयरपोर्ट के फ्रंट गेट का फोटो।

एयरपोर्ट के फ्रंट गेट का फोटो।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular