Sunday, May 19, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: सुकमा: नेशनल ट्राइबल स्काउट गाइड रोवर रेंजर्स कार्निवल 2022

छत्तीसगढ़: सुकमा: नेशनल ट्राइबल स्काउट गाइड रोवर रेंजर्स कार्निवल 2022

  • कार्निवल में विभिन्न प्रदेशों एवं जिलों के स्काउट्स गाइड्स ने लोक नृत्यों पर दी शानदार प्रस्तुति
  • सेवाभाव और अनुशासन छात्र जीवन और व्यक्तित्व विकास में बेहद जरुरी- लखेश्वर बघेल
  • स्काउट्स गाइड्स के सेवा और अनुशासन नियम से छात्रों को बेहतर नागरिक बनने की मिलती है सीख

सुकमा: जिला मुख्यालय स्थित मिनी स्टेडियम में कार्निवल के दूसरे दिन लोक नृत्य स्पर्धा पर केन्द्रित था। लगभग दो घण्टों तक चले यह रंगारंग लोक सांस्कृतिक कार्यक्रम जिले वासियों के लिए अविस्मरणीय रहेगा। रंगीन संतरंगी बल्बों से सजे मंच पर अपनी प्रतिभा को प्रदर्शित कर रहे स्काउट गाइड और रोवर्स रेंजर्स ने अपने नृत्य कौशल से गहरी छाप छोड़ी। कार्निवल के दूसरे दिवस पर मुख्य अतिथि बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं विधायक बस्तर श्री लखेश्वर बघेल एवं विधायक अंतागढ़ श्री अनूप नाग रहे।

कार्निवल में विभिन्न प्रदेशों एवं जिलों के स्काउट्स गाइड्स ने लोक नृत्यों पर दी शानदार प्रस्तुति

इस क्रम में मध्य प्रदेश के स्काउट गाइड द्वारा सर्वप्रथम बैगा नृत्य की प्रस्तुति दी गई। बैगा जनजाति द्वारा विशेष अवसरों पर किए जाने वाले इस लोकनृत्य को स्काउट गाइड ने परंपरागत वेशभूषा से सुसज्जित होकर लोक धुन में थिरकते हुए मोहक अंदाज में प्रस्तुत किया। इसके पश्चात    ् केन्द्र शासित प्रदेश दादरा एवं नगर हवेली के स्काउट्स गाइड्स ने सधे हुए पद संचालन एवं लोक वाद्य यंत्रों के मधुर संगीत के बीच कार्यक्रम में चार चांद लगाया, बीच बीच में संगीत के मध्य शारीरिक करतब इस लोक नृत्य की प्रमुख विशेषता रही

इसके साथ ही ओड़िशा के दल के तीर कमान धारी बालकों और ठेठ क्षेत्रीय परिधान में सजी धजी बालिकाओं ने ओड़िशा के ग्रामीण परिवेश की संस्कृति को नृत्य के माध्यम से जीवंत कर उपस्थित अतिथियों को मंत्रमुग्ध कर दिया। समवेत एवं उर्जावान नृत्य शैली के बीच हाथ पैर के परिचालन और आकर्षक भाव भंगिमा से सराबोर यह नृत्य बेजोड़ रहा और दर्शकों की खूब वाहवाही लूटी।

इसके साथ ही सेन्ट्रल रेलवे की टीम ने छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध सरगुजिया नृत्य, ईस्ट कोस्ट रेलवे ने ओड़िया लोकनृत्य, छत्तीसगढ़ ने गोण्डी लोकनृत्य, उत्तर प्रदेश द्वारा कीर्तन शैली, साउथ ईस्टर्न रेलवे की टीम द्वारा संथाली नृत्य की प्रस्तुति दी गई।
इसके अलावा लोकनृत्य कार्यक्रम के पूर्व मुख्य अतिथियों के आगमन के पश्चात् स्काउट्स गाइड्स के परंपरा अनुसार कैम्पफायर का आयोजन किया गया।

सेवाभाव और अनुशासन छात्र जीवन और व्यक्तित्व विकास में बेहद जरुरी- लखेश्वर बघेल

इस मौके पर अपने सारगर्भित उद्धबोधन में मुख्य अतिथि श्री लखेश्वर बघेल ने कहा कि छात्र जीवन में सेवाभाव और अनुशाासन बेहद आवश्यक होता है। इसके मद्देनजर यह कार्निवल ना केवल छात्रों के व्यक्तित्व विकास बल्कि उन्हें एक बेहतर नागरिक बनाने में मददगार सिद्ध होगा। सुकमा जैसे दूरस्थ अंचल में आयोजित इस राष्ट्रीय स्तर के आयोजन से पूरा क्षेत्र गौरवान्वित है और उन्हे पूरा विश्वास है कि इतने वृहद सफल आयोजन से जिले के संबंध में पूर्व मानसिकता और धारणा मिटेगी और एक सकारात्मक छवि का निर्माण होगाा। इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन, स्थानीय जनप्रतिनधियों और देश के विभिन्न हिस्सों से आए स्काउट्स गाइड्स के पदाधिकारियों को बधाईयां एवं शुभकामना दी।

इस क्रम में विधायक अंतागढ़ अनूप नाग ने भी छात्रों एवं अधिकारी कर्मचारियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कार्निवल का आयोजन जिले के लिए गौरव का पल है और उससे जिले को नई पहचान मिलेगी। उन्होंने विशेष रुप से स्काउट्स गाइड्स को जाबाज की संज्ञा देते हुए कहा कि उन्होंने पूर्वाग्रह से मुक्त होकर सुकमा जैसे दूरस्थ अंचल में आने के लिए अपनी सहमति दी और उन्हें पूरा विश्वास हो गया होगा कि बस्तर क्षेत्र वास्तव में शांति का ही टापू है।

कार्यक्रम में अन्य वक्ताओं ने भी स्काउट्स गाइड्स एवं उनके अधिकारी कर्मचारियों की इस आयोजन के संबंध में भूरि-भुरि प्रशंसा की। इस अवसर पर सुकमा जिला पंचायत अध्यक्ष श्री हरिश कवासी, सुकमा नगरपालिका अध्यक्ष श्री जगन्नाथ साहू एवं अन्य जनप्रतिनिधियों सहित एसडीएम सुश्री प्रीति दुर्गम एवं जिला शिक्षा अधिकारी श्री नितिन डडसेना, स्काउट्स गाइड्स जिला आयुक्त श्री आशीष राम एवं अन्य अधिकारी गण उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular