Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाBCC News 24: CG न्यूज़- जांजगीर-चांपा में 2 पुलिसवालों की बर्बरता.. युवक...

BCC News 24: CG न्यूज़- जांजगीर-चांपा में 2 पुलिसवालों की बर्बरता.. युवक को जमकर पीटा, बुरी तरह घायल; शराब पकड़ने गए थे, नहीं मिलने पर बरसाए डंडे, आरक्षक सस्पेंड, नगर सैनिक को हटाया गया

जांजगीर: छत्तीसगढ़ में पुलिस जवानों द्वारा की जा रही मारपीट की घटनाएं लगातार सामने आ रही है। बलरामपुर के बाद अब जांजगीर-चांपा जिले में पुलिसवालों ने मिलकर एक युवक की जमकर पिटाई कर दी। घटना में युवक बुरी तरह से घायल हो गया है। बताया जा रहा है कि पुलिसकर्मी शराब पकड़ने गए थे। युवक से शराब नहीं मिली, इसके बावजूद युवक को डंडे से पीट दिया गया है। मामले में पीड़ित युवक ने शिकायत की थी। जिसके बाद एसपी ने एक आरक्षक को सस्पेंड कर दिया है। इसके अलावा एक नगर सैनिक को भी थाने से हटा दिया गया है। मामला पामगढ़ थाना क्षेत्र का है।

बताया जा रहा है कि रविवार को पामगढ़ थाना पुलिस को सूचना मिली थी कि सेमरिया गांव में अवैध शराब बेची जा रही है। इसी सूचना के आधार पर सिविल ड्रेस में 7 पुलिसकर्मी वहां गए थे। यहां पुलिसवालों ने चंदन गोंड(27) के घर पर दबीश दी। मगर उसके घर से शराब नहीं मिली। इसके बाद उन्होंने उससे पूछताछ शुरू कर दी। पूछताछ के दौरान ही 2 पुलिसकर्मियों ने मिलकर चंदन को खूब मारा है।

युवक ने परिजनों से की शिकायत।

युवक ने परिजनों से की शिकायत।

पीड़ित युवक ने एसपी से की शिकायत

घटना में युवक बुरी तरह युवक घायल हुआ था। उसके शरीर से काफी खून बह गया था। परिजनों ने उसे पास के अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां उसका उपचार किया गया। फिर घटना के अगले दिन पीड़ित चंदन ने अपने परिवार के साथ जांजगीर पहुंचकर एसपी विजय अग्रवाल से शिकायत की है। उसने अपने शिकायत में बताया कि शराब नहीं मिलने के बाद भी मुझे पीटा गया। मारपीट के बाद पुलिसकर्मी अपने डंडे भी छोड़ गए थे।

10 हजार रिश्वत भी मांगी
चंदन के परिजनों ने बताया कि 7 पुलिसकर्मी सिविल ड्रेस में पहुंचे थे। 2 लोगों ने पीटा और 5 लोगों ने उनका साथ दिया था। इसलिए सब पर कार्रवाई होनी चाहिए। परिजनों ने इन पुलिसकर्मियों पर 10 हजार रुपए रिश्वत मांगने का भी आरोप लगाया है।

मामले में जांच के निर्देश

परिजनों के शिकायत के बाद एसपी विजय अग्रवाल ने पामगढ़ थाना में पदस्थ आरक्षक महेंद्र राज और नगर सैनिक चंद्रशेखर प्रधान पर कार्रवाई की है। महेंद्र राज को सस्पेंड कर दिया गया है। जबकि चंद्रशेखर प्रधान को थाने से हटा दिया गया है। इसके अलावा उन्होंने इस मामले में SDOP को जांच करने के निर्देश दिए हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular