Tuesday, June 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाBCC News 24: BIG न्यूज़- 5 साल की बच्ची को बाप ने...

BCC News 24: BIG न्यूज़- 5 साल की बच्ची को बाप ने कुएं में फेंका.. बोला- मुझे बेटी नहीं चाहिए थी; देवदूत बनीं दो महिलाएं, अपनी साड़ियों के सहारे बाहर निकाला, मासूम बोली- मुझे नहीं जाना पापा के पास; पिता गिरफ्तार

राजस्थान: कुएं में रस्सी के सहारे लटकी मिली 5 साल की बच्ची के मामले में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। मासूम अपने आप नहीं गिरी थी, उसको उसके पिता ही कुएं में फेंक गए थे। किस्मत अच्छी थी। 2 महिलाओं की नजर पड़ गई और उन्होंने बच्ची को बचा लिया। पुलिस ने पिता को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने सोमवार शाम को बताया कि पिता बेटी को पसंद नहीं करता था। इसलिए उसे मारने की नीयत से कुएं में फेंक गया था। मामला राजसमंद के राजनगर क्षेत्र का है।

डिप्टी एसपी बेनीप्रसाद मीणा ने बताया कि थाना क्षेत्र के रेगर मोहल्ला कृषि फार्म हाउस निवासी सुशील (33) पुत्र मांगीलाल को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने 80 सीसीटीवी फुटेज की जांच की। पिता को संदिग्ध मानते हुए पूछताछ की। आरोपी पिता ने पुलिस पूछताछ में कबूल कर लिया कि उसने ही बेटी को कुएं में फेंका था।

आरोपी बाप ने बताया- उस दिन क्या हुआ था
शनिवार को दोपहर 2 बजे घर में खेल रही बच्ची जीनल को सुशील ने ही घर से ढाई किलोमीटर दूर 80 फीट गहरे कुएं में फेंक दिया, जिसमें 50 फीट तक पानी था। उसने बताया कि उसे बेटी की चाहत नहीं थी। बेटी के लालन-पालन और शादी की चिंता के कारण वह उसे जान से मारना चाहता था। सुशील लॉकडाउन के दिनों से बेरोजगार था। मौका पाकर वह स्कूटी पर बेटी को बिठाकर ले गया और धोईंदा जाने वाले सुनसान मार्ग पर कुएं में फेंक दिया।

पढ़ा-लिखा है, फिर भी ऐसी हरकत
थाना अधिकारी डॉ हनवंतसिंह राजपुरोहित ने बताया कि सुशील पढ़ा-लिखा है। मां गृहिणी है। सुशील बेरोजगार होने के साथ ही शराब का आदी भी है। सुशील बीसीए, एमसीए और होटल मैनेजमेंट की पढ़ाई कर रखी है। कोई नौकरी नहीं मिलने से बच्ची की पढ़ाई, शादी के खर्चे को लेकर तनाव में था। बच्ची को कुएं में फेंककर मारने की साजिश उसने पहले ही रच ली थी। घर से ढाई किलोमीटर दूर सुनसान में एक कुएं पर उसकी नजर थी। शनिवार को उसने बच्ची को कुएं में फेंका और वापस अपने घर पर न जाकर देव हेरिटेज होटल के पास से श्मशान वाले रास्ते से देवधड़ी की तरफ चला गया। घटना के बाद उसकी ने बच्ची के नहीं मिलने की सूचना दी तो सुशील अनजान बनने का नाटक करते हुए घरवालों के साथ में बच्ची की तलाश का नाटक करता रहा।

देवदूत बनीं दो महिलाएं
कुएं से बच्ची की आवाज सुनकर पास में खेत में काम करने वाली दो महिलाएं संध्या पालीवाल, हीरा बाई कुमावत व एक व्यक्ति रामलाल कुमावत ने बच्ची को बचाया। महिलाओं ने अपनी-अपनी साड़ियां खोलीं। दोनों साड़ियों को एक में बांध दिया। फिर उसे कुएं में लटकाया और बच्ची को बाहर निकाला।

पिता के पास जाने से इनकार
मासूम बहादुर बच्ची के सुरक्षित कुएं से बाहर निकलने की सूचना आरोपी के घरवालों को मिली तो वह घरवालों के साथ मौके पर भी पहुंच गया। बच्ची ने अपने पिता को देखते ही उसके पास जाने से इनकार कर दिया और बोली- पापा गंदे हैं।

यह है मामला
शनिवार शाम को धोईंदा स्थित पालीवालों की ढिमडी के कुएं में 5 साल की बच्ची कुएं में मिली थी। खेत में कार्य कर रही महिला कुएं पर मोटर बंद करने के लिए गई तो चिल्लाने की आवाज आई। कुएं के मालिक रामलाल कुमावत ने अज्ञात टू व्हीलर चालक के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

इस टीम ने गिरफ्तार किया
उपनिरीक्षक संग्राम सिंह, कॉन्स्टेबल महेंद्र, थानाराम, शिवलाल, गणपत, धन्नाराम, विश्वेंद्र, निर्मला, अनिता, लक्ष्मण सिंह, रतन व्यास और रतन टीम में शामिल थे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular