Wednesday, February 28, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाBIG न्यूज़: भूत उतारने में बेटी की ही जान ले ली.. तंत्र-मंत्र...

BIG न्यूज़: भूत उतारने में बेटी की ही जान ले ली.. तंत्र-मंत्र के चक्कर में भूखा-प्यासा रखा, गन्ने के खेत में बांधकर पीटता रहा; मौत के बाद भी 3 दिन सोचता रहा जिंदा है

तालाला (गिर सोमनाथ): गुजरात में अंधविश्वास के चलते बेटी की हत्या का मामला सामने आया है। पिता और ताऊ को शक था कि लड़की को भूत लगे हैं। ऐसे में लड़की को गन्ने के खेत में बांधकर पीटा। उसे भूखा रखा। इससे उसकी मौत हो गई। उन्हें तंत्र-मंत्र में भरोसा था। उनका मानना था कि तांत्रिक अनुष्ठान और मारपीट से भूत भाग जाएगा। घटना के बारे में लड़की की मां और नाना को पता चला तो उन्होंने एफआईआर दर्ज कराई, तब यह मामला सामने आया। घटना गिर सोमनाथ जिले में तालाला के धावा गांव की है।

14 साल की थी लड़की

पुलिस ने आरोपी भावेश (काली टीशर्ट में) और उसके भाई दिलीप (ग्रे टी शर्ट में) को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने आरोपी भावेश (काली टीशर्ट में) और उसके भाई दिलीप (ग्रे टी शर्ट में) को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक, मृतक धैर्या की उम्र 14 साल थी। वह 9वीं क्लास में पढ़ती थी। वह करीब एक साल से अपने ताऊ दिलीप अकबरी के घर पर धावा गांव में रह रही थी। ताऊ तंत्र में भरोसा करता है। उसने ही 1 अक्टूबर को सूरत में रहने वाले अपने भाई यानी धैर्या के पिता भावेश को फोन लगाकर बताया कि तुम्हारी बेटी को भूत लगे हैं। पिता सूरत से धावा पहुंच गया। इसके बाद दोनों ने आपसी सलाह से उसका भूत भगाने के लिए तंत्र का रास्ता चुना।

शरीर में भूत घुसने का शक

गन्ने के खेत से पुलिस ने कुछ सबूत जुटाए हैं।

गन्ने के खेत से पुलिस ने कुछ सबूत जुटाए हैं।

1 अक्टूबर को दिलीप और भावेश धैर्या को लेकर गांव के गन्ने के खेत में गए और उसे वहां बांध दिया। दो दिन बाद फिर दोनों भाई खेत में पहुंचे और धैर्या के साथ मारपीट की। इस पर धैर्या बेसुध हो गई। दोनों भाई उसे उसी हालत में छोड़कर घर आ गए। दो दिन बाद यानी 5 अक्टूबर को खेत में जाकर देखा तो बेटी उसी हालत में पड़ी थी। तब भी उन्होंने कुछ नहीं किया।

पुलिस ने खेत से धैर्या के शव को जलाने के बाद बचे अवशेष बरामद किए।

पुलिस ने खेत से धैर्या के शव को जलाने के बाद बचे अवशेष बरामद किए।

शव से बदबू आई
7 अक्टूबर की सुबह 11 बजे दोनों खेत में पहुंचे तो बेटी के शरीर से बदबू आ रही थी और कीड़े हो गए थे। तब उन्हें लगा कि बेटी की मौत हो गई है। दोनों ने उसी रात बेटी का शव वहीं खेत में जला दिया। अगले दिन सूरत में रह रही बच्ची की मां को बेटी की मौत की सूचना दी।

मां ने यह खबर अपने पिता वालजी भाई डोबरिया को बताई। तब दोनों गांव पहुंचे और भावेश से पूछा कि अंतिम संस्कार के लिए हमारा इंतजार क्यों नहीं किया गया। शक होने पर उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। उनसे पूछताछ के बाद खेत से कुछ सामान और बेटी का जला शव बरामद किया गया है। जांच में पुलिस को कुछ सीसीटीवी फुटेज भी मिले हैं।

खेत में से धैर्या के शरीर के अवशेष निकालती पुलिस टीम।

खेत में से धैर्या के शरीर के अवशेष निकालती पुलिस टीम।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular