Sunday, May 26, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: बहू चली जाए इसलिए सताया.. गर्भवती हुई तो गर्भपात के लिए...

CG: बहू चली जाए इसलिए सताया.. गर्भवती हुई तो गर्भपात के लिए करवाया तंत्र-मंत्र, बेटी हुई तो और ज्यादा प्रताड़ना… लेकिन कार्रवाई के लिए 6 साल से कानूनी लड़ाई

रायपुर: कोरोना काल का लॉकडाउन महिलाओं के लिए कई मायनों में दर्दभरा रहा। घरेलू हिंसा बढ़ गई और इस दौरान जिनकी शादी हुई, उन्हें भी कुछ दिनों के भीतर ही प्रताड़ना का शिकार होना पड़ा। ये सिलसिला लगातार चल रहा है क्योंकि उत्पीड़न की शिकार महिलाओं को न्याय दिलाने वाला सिस्टम ही कई महिलाओं के लिए उत्पीड़न का कारण बन गया है। रायपुर की एक दुष्कर्म पीड़ित युवती जिस थाने में न्याय के लिए पहुंची, वहीं के सब इंस्पेक्टर ने ब्लैकमेल कर दुष्कर्म कर दिया।

भिलाई की युवती ने पुलिस को पैसे नहीं दिए, इसलिए उसकी रिपोर्ट पर केवल पति को आरोपी बनाया जबकि उसका दावा था कि गर्भ में ही बच्चे को मारने की साजिश में पूरा परिवार शामिल था। एक पीड़िता 2 माह के बेटे के सामने फंदे पर झूल गई। अब उसका परिवार न्याय दिलाने भटक रहा, पर पुलिस ने केस दर्ज नहीं किया है।

महिला उत्पीड़न उन्मूलन दिवस पर भास्कर ने छत्तीसगढ़ में ऐसी महिलाओं के किस्से लाए, जो पहले परिवार और अब सिस्टम के उत्पीड़न की शिकार हैं। जैसे-भिलाई की 28 साल की युवती का 2015 में राजनांदगांव में सरकारी नौकरी करने वाले युवक से हुआ। शादी के बाद पति-पत्नी कोरबा शिफ्ट हो गए। ससुराल वाले युवती को पसंद नहीं करते थे।

वे चाहते थे बहू उनके बेटे को छोड़कर चली जाए, इसलिए उसे परेशान किया। युवती गर्भवती हुई तो बच्चे को गर्भ में मारने के लिए तंत्र-मंत्र कराया। वह घबराकर मायके आ गई तो पति दोबारा गलती नहीं होने का वादा कर वापस ले गया। कुछ दिन बाद उसे फिर परेशान किया जाने लगा। गर्भपात की दवाइयां दी गईं, पर यह साजिश भी नाकाम रही।

नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) के आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल देश में 6753 महिलाओं की दहेज मृत्यु हुई। इसमें छत्तीसगढ़ का स्थान 14वें नंबर पर है। छत्तीसगढ़ में 65 की दहेज प्रताड़ना से मौत हुई है। 185 नवविवाहिता और महिलाओं ने खुदकुशी कर ली। ससुराल वालों की लापरवाही से 594 महिलाओं की जान गई। इसमें छत्तीसगढ़ का 6वां स्थान है।

केस-1 : रिपोर्ट करने पहुंची, थानेदार का ही शिकार हुई
रायपुर के एक मॉल में काम करने वाली युवती से 2020 में शादी का झांसा देकर साथी कर्मी ने दुष्कर्म किया और वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने लगा। युवती इसकी रिपोर्ट लिखाने थाना पहुंची। सब इंस्पेक्टर रिपोर्ट लिखाने के नाम पर घुमाने लगा। हालांकि कुछ दिन बाद उसने केस दर्ज किया और आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। लेकिन उसके पास वह वीडियो पहुंच गया। युवती ने आरोप लगाया कि इस वीडियो से वह भी उसे ब्लैकमेल करने लगा और कई बार दुष्कर्म किया।
युवती ने तंग आकर इसकी रिपोर्ट भी दर्ज कराई है। मामला कोर्ट में चल रहा है।

केस-2 : गिरफ्तारी के लिए डेढ़ साल घुमाती रही पुलिस
कबीर नगर इलाके की 26 वर्षीय युवती की शादी कोरोना काल के दौरान दिसंबर 2020 में झारखंड टाटा नगर के कारोबारी से हुई। कोरोना के कारण पति का कारोबार ठप हुआ। एक माह बाद से ही दहेज की बातें होने लगीं और मारपीट शुरू हो गई। वह भागकर मायके आ गई तो ससुराल वाले उसे समझा-बुझाकर वापस ले गए। कुछ दिन बाद हालात फिर वैसे ही हुए तो युवती ने थाने में शिकायत की। वहां काउसिलिंग शुरू हुई। ससुराल वाले काउंसिलिंग में नहीं आए।

डेढ़ साल चक्कर काटने के बाद इधर-उधर शिकायत की, तब इस साल जुलाई में केस दर्ज किया गया। अब वह ससुराल वालों की गिरफ्तारी के लिए चक्कर काट रही है। पुलिस इसलिए गिरफ्तार नहीं कर रही है कि उन्हें इसके लिए झारखंड जाना होगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular