Tuesday, June 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाBCC News 24: बेटे को राखी बांधती, पिता से फिजिकल रिलेशन.. टीचर...

BCC News 24: बेटे को राखी बांधती, पिता से फिजिकल रिलेशन.. टीचर के प्यार में पागल बिजनेसमैन ने 40 लाख खर्च किए, उसके हर महंगे शौक पूरा करता था, पुलिस को बताया- गाड़ी में तेज आवाज में भजन चलाकर घोंटा था प्रेमिका का गला 

राजस्थान: दिल्ली की ट्यूशन टीचर की हत्या के मामले में कई नए खुलासे हुए हैं। बिजनैसमेन अपने से 10 साल छोटी ट्यूशन टीचर के प्यार में इस कदर पागल था कि उसका सारा खर्चा खुद उठाता था। आरोपी ने हत्या कैसे की और ट्यूशन टीचर को लेकर भी कई जानकारी पुलिस को दी है।

दरअसल, बिजनेसमैन कपिल गुप्ता और ट्यूशन टीचर प्रियंका खत्री के बीच 7 साल से अफेयर चल रहा था। दोनों के बीच रिलेशन भी थे। सुंदर दिखने के लिए जो दवाइयां प्रियंका लेती थी उसका खर्चा भी प्रेमी कपिल उठाता था। आरोपी ने बताया कि जब प्रियंका का गला घोंटा गया तब कार में तेज आवाज में भजन चला दिए थे। ताकि उसके चिल्लाने की आवाज बाहर तक नहीं जाए। मर्डर के बाद उसने अपने दो नौकर व पत्नी के साथ मिलकर शव को बोरे में डाल नीमराणा के पास फेंक दिया।

40 लाख खर्च कर चुका था बिजनेसमैन
कपिल ने बताया कि प्रियंका ने जब बच्चों को ट्यूशन पढ़ाना शुरू किया तो उसके दो साल में ही दोनों के बीच रिलेशन हो गए। वह प्रियंका को बाहर घुमाने भी ले जाता था। कपिल ने पुलिस को बताया कि वह 7 साल में 40 लाख रुपए प्रियंका पर खर्च कर चुका था। इतना ही नहीं दोनों के बीच रिलेशन की भनक पत्नी को न लगे इसलिए प्रियंका कपिल के बेटे को राखी भी बांधती थी।

पति कपिल, पत्नी सुनैना व दोनों नौकर पुलिस गिरफ्त में।

पति कपिल, पत्नी सुनैना व दोनों नौकर पुलिस गिरफ्त में।

दो बार तोड़ चुकी थी सगाई, जहर भी खाया
पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि प्रियंका चाहती थी कपिल भी उसके साथ रहे। इसलिए उसने शादी का प्रस्ताव भी रखा। इससे पहले प्रियंका की भी दो बार सगाई हो चुकी थी। लेकिन प्रियंका ने दोनों बार सगाई तोड़ दी। पूछताछ में सामने आया कि जब भी प्रियंका के लिए कोई रिश्ता आता तो वह कपिल या फिर किसी ओर से कॉल करवाकर झूठी बातें कर रिश्ता तुड़वा देते थे। इतना ही नहीं घरवालों को प्रेशर में रखने के लिए प्रियंका ने एक बार जहर भी खायाा था।

प्लास्टिक के बोरे में मिली थी लाश
पुलिस को 16 मार्च को प्लास्टिक के बोरे में प्रियंका की लाश अलवर के ततारपुर में मिली थी। जांच के दौरान पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गाड़ी के नंबर की पहचान की। इसके आधार पर दिल्ली के आनंद विहार, गांधीनगर, करावल नगर और गाजियाबाद (उत्तर प्रदेश) में विभिन्न स्थानों पर दबिश दी गई। तब जाकर चारों आरोपी गिरफ्तार किए गए।

गए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular