Monday, June 17, 2024
Homeछत्तीसगढ़BIG News: US की झील में डूबे 3 भारतीय, बर्थडे मनाने गए...

BIG News: US की झील में डूबे 3 भारतीय, बर्थडे मनाने गए थे.. फोटो खिंचवाते वक्त बर्फ की परत टूटने से माता-पिता माइनस 30 डिग्री पानी में समाए, 2 बेटियां अनाथ

एरिजोना: अमेरिका के एरिजोना राज्य में बर्फ से जमी झील में डूबे 3 भारतीय बर्थ-डे मनाने गए थे। भारतीय मूल के 3 परिवार वुड्स केनन झील पर सेलीब्रेशन करने गए। नारायण मुद्दाना (49), उनकी पत्नी हरिथा मुद्दाना और दोस्त गोकुल मेदिसेती (47) फोटो खिंचवा रहे थे। इसी दौरान बर्फ की परत टूट गई और तीनों माइनस 30 डिग्री टेम्परेचर वाले पानी में डूब गए।

नारायण और हरिथा की अनाथ हो चुकी दो बेटियों हर्षिथा (7) और पूजिथा (11) की कस्टडी एरिजोना के चाइल्ड सेफ्टी डिपार्टमेंट के पास है।

26 दिसंबर की शाम हुआ हादसा, झील पर महिला-पुरुषों के साथ 5 बच्चे थे

यह हादसा 26 दिसंबर की शाम को एरिजोना की कोकोनिनो काउंटी की वुड्स केनन झील पर हुआ। झील पर मोटी बर्फ की परत चढ़ चुकी थी। तीनों परिवार हरिथा का जन्मदिन मनाने गए थे। 6 महिला-पुरुषों के अलावा 5 बच्चे थे। सभी लोग तस्वीरें लेने जैसे ही झील पर चढ़े, वैसे ही वहां की बर्फ टूट गई।

नारायण, हरिथा और गोकुल डूबने लगे। इन्हें बचाने के लिए रेस्क्यू टीम को बुलाया गया। टीम ने महिला को तुरंत बाहर निकाल लिया, लेकिन जान नहीं बच सकी। पुरुषों की बॉडी तलाशी अभियान के बाद मिलीं।

पानी में डूबे तीनों लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू टीम को बुलाया गया।

पानी में डूबे तीनों लोगों को बचाने के लिए रेस्क्यू टीम को बुलाया गया।

अनाथ बच्चियों के लिए जुटाए 4.13 करोड़ रुपए

एरिजोना के चाइल्ड सेफ्टी डिपार्टमेंट नी इनकी कस्टडी ली है। कोकोनिनो काउंटी शेरिफ ऑफिस (CCSO) के जॉन पैकस्टन ने बताया कि बच्चियों की देखभाल कर उन्हें सुरक्षित रखा जा रहा है। उन्हें हादसे से जुड़ी जानकारी से दूर रखने की कोशिश भी की जा रही है। फिलहाल GoFundMe क्राउडफंडिंग प्लेटफॉर्म के जरिए प्रभावित परिवारों के लिए 5 लाख डॉलर से ज्यादा यानी 4.13 करोड़ रुपए से ज्यादा की सहायता राशि जुटा ली गई है। इससे बच्चियों की पढ़ाई में मदद हो सकेगी।

अमेरिका में बॉम्ब साइक्लोन से तबाही, कारों में मिल रही लाशें
अमेरिका और कनाडा में बॉम्ब साइक्लोन का कहर जारी है। इसे सदी का सबसे बड़ा बर्फीला तूफान माना जा रहा है। इससे अब तक 60 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी और भी लोगों के मरने की आशंका है। नियाग्रा फॉल्‍स में तो तापमान -52 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचा है। इससे दुनिया का सबसे ऊंचा झरना पूरी तरह जम गया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular