Tuesday, July 23, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाशोकॉज नोटिस जारी होने पर फिर भड़के बृहस्पत सिंह... बोले- एक्शन पहले...

शोकॉज नोटिस जारी होने पर फिर भड़के बृहस्पत सिंह… बोले- एक्शन पहले होता तो आज हमारी सरकार होती, चरणदास महंत को कुर्सी की लालसा; इसलिए प्रभारी के पक्ष में बोल रहे

रायपुर: छत्तीसगढ़ कांग्रेस प्रभारी सैलजा के खिलाफ बयानबाजी के बाद शोकॉज नोटिस जारी होने पर बृहस्पत सिंह ने फिर बयान दिया है। उनके मुताबिक पीसीसी एक साल पहले इतनी सजग होती तो आज हमारी सरकार होती। चरणदास महंत को कुर्सी की लालसा है। प्रभारी को पटा कर रखेंगे तो शायद नेता प्रतिपक्ष बन जाएंगे। इसलिए वो सैलजा के पक्ष में बयान दे रहे हैं। चरणदास महंत ने सैलजा और अन्य कांग्रेस नेताओं के खिलाफ बयानबाजी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की जरूरत बताई थी।

छत्तीसगढ़ कांग्रेस में हार के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता एक-दूसरे पर हार का ठीकरा फोड़ने में लगे हुए हैं। खास बात यह है कि निशाने पर प्रदेश सरकार के मुखिया रहे भूपेश बघेल और टीएस सिंहदेव के साथ ही प्रदेश प्रभारी कुमारी सैलजा भी हैं। तीनों पर पूर्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल और पूर्व विधायक बृहस्पत सिंह ने निशाना साधा।

रायपुर में पूर्व विधायक बृहस्पत सिंह ने तो राहुल गांधी से कुमारी सैलजा को हटाने तक की मांग कर डाली। उन्होंने कहा कि टीएस सिंहदेव को सैलजा हीरो की तरह प्रमोट करती रहीं। सैलजा ने डैमेज कंट्रोल करने के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कभी ये तक जानने का प्रयास नहीं किया कि क्या चल रहा है। इसलिए कांग्रेस की ऐसी दशा हुई है। इस पर कांग्रेस ने बृहस्पत को शोकॉज नोटिस जारी कर 3 दिन में जवाब मांगा है।

कांग्रेस ने बृहस्पत को थमाया शोकॉज नोटिस

कांग्रेस ने पूर्व विधायक बृहस्पत सिंह के बयान को गंभीरता से लिया है। पार्टी के प्रभारी महामंत्री मलकीत सिंह गैदू ने उन्हें शोकॉज नोटिस जारी करते हुए तीन दिन के भीतर जवाब मांगा है। नोटिस में लिखा है- आपके द्वारा प्रदेश प्रभारी और वरिष्ठ नेताओं पर सार्वजनिक रूप से लगाए गए तथ्यहीन आरोपों से पार्टी की छवि धूमिल हो रही है।

इसे छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने गंभीरता से लेते हुए कारण बताओ नोटिस जारी करने का फैसला लिया है। तीन दिन के भीतर नोटिस का जवाब PCC को भेजें।

क्या कहा था पूर्व विधायक बृहस्पत सिंह ने…

1. डिप्टी सीएम गाड़ी चला रहे थे, वो फोटो शूट करवा रहीं थी

बृहस्पत सिंह ने कहा कि, जब राज्य की प्रभारी मैडम अंबिकापुर दौरे पर गई थीं, वहां डिप्टी सीएम गाड़ी चला रहे थे और वे केवल फोटो शूट करवा रही थीं। बृहस्पत सिंह ने कहा कि टिकट देने से कोई चुनाव नहीं जीतता। जब तक उसे क्षेत्र की जनता और कार्यकर्ताओं का सहयोग न मिले।

2. कांग्रेस नेताओं का घमंड सिर चढ़कर बोल रहा था

पूर्व विधायक ने कहा, कांग्रेस के हमारे नेताओं का घमंड सिर चढ़कर बोल रहा था। ऐसा लग रहा था कि जिसको यह टिकट दे देंगे वही चुनाव जीत जाएगा। चुनाव के दौरान डिप्टी सीएम सिंहदेव खुले मंच से मोदी के काम की तारीफ करते रहे। डिप्टी सीएम हमेशा कहते रहे, छत्तीसगढ़ में हमने केवल 12 वादे पूरे किए बाकी पूरे नहीं किए हैं।

जय सिंह अग्रवाल ने कहा कि, कुछ चुनिंदा मंत्रियों को ही लेकर सरकार काम कर रही थी।

जय सिंह अग्रवाल ने कहा कि, कुछ चुनिंदा मंत्रियों को ही लेकर सरकार काम कर रही थी।

चुनाव में मिले जनादेश की कद्र नहीं कर पाए

वहीं, पूर्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने बिना नाम लिए भूपेश बघेल पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि, विधायकों की परफॉर्मेंस का सर्वे सरकार का मुखिया करवाता है। उस सर्वे पर कभी चर्चा नहीं हुई, जो फर्जी सर्वे था। सरकार पिछले चुनाव में मिले जनादेश की कद्र नहीं कर पाई।

केन्द्रीयकृत ताकत कुछ लोगों के साथ सरकार चलाती रही

कोरबा में एक बैठक के दौरान जयसिंह ने कहा कि, इस चुनाव में कांग्रेस में एकजुटता नहीं थी। इस बार का चुनाव सेंट्रलाइज था। मंत्रियों को पावर नहीं मिल पाया। एक ताकत केन्द्रीयकृत रही और कुछ लोगों के साथ पांच साल सरकार चलाती रही। जिले में मंत्रियों का जो प्रभाव था, उसे बाधित किया गया।

जब बाड़ा खेत खा जाए तो कोई क्या करे

जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि खेतों को सुरक्षित रखने के लिए बाड़ा बनाया जाता है, अगर वो बाड़ा ही खेत को खाए तो क्या होगा। मुखिया का ग्रामीण क्षेत्रों पर फोकस रहा और शहरी क्षेत्रों पर ध्यान नहीं दिया गया। सरकार को जिस तरह जनादेश मिला था, उस तरह से जनता के अनुरूप काम नहीं कर पाई।

प्रभारी सचिव चंदन यादव पर गंभीर आरोप

पूर्व कांग्रेस विधायक विनय जायसवाल ने PCC के प्रभारी सचिव चंदन यादव पर गंभीर आरोप लगाया है। रायपुर में उन्होंने कहा कि मुझसे पैसा लिया गया। जायसवाल ने कहा कि TS सिंहदेव के कारण चुनाव हारे हैं। विनय जायसवाल मनेन्द्रगढ़ विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के विधायक रहे हैं। इस बार पार्टी ने विनय जायसवाल का टिकट काटकर उनकी जगह रमेश सिंह को टिकट दिया था।

भाजपा बोली- महिलाओं का अपमान करना कांग्रेस के DNA में

बृहस्पत सिंह के कुमारी सैलजा पर दिए बयान को लेकर भाजपा भी मैदान में उतर आई है। प्रदेश मीडिया प्रभारी अमित चिमनानी ने कहा कि, पूर्व विधायक कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी के खिलाफ बेहद विवादित बातें कह रहे है। उन्हें बिकी हुई और हिरोइन जैसे घूमने वाली बता रहे हैं। सोनिया गांधी जैसे महुआ मोइत्रा के सम्मान के लड़ रही हैं, क्या वैसे ही कुमारी सैलजा के सम्मान की रक्षा करेंगी? महिलाओ का अपमान करना कांग्रेस के डीएनए में है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular