Wednesday, February 28, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण के आरोप में चर्च पर हमला.. आदिवासी समाज...

CG: छत्तीसगढ़ में धर्मांतरण के आरोप में चर्च पर हमला.. आदिवासी समाज का हिंसक प्रदर्शन; पुलिसकर्मियों को बनाया निशाना, SP का सिर फूटा

Narayanpur: छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में धर्म परिवर्तन को लेकर सोमवार को आदिवासी संगठनों का प्रदर्शन हिंसक हो गया। भीड़ ने सबसे पहले यहां के एक चर्च में तोड़फोड़ की। बीच-बचाव करने जब पुलिस पहुंची तो प्रदर्शनकारियों ने उन पर भी हमला कर दिया। इसमें नारायणपुर जिला के SP का सिर फट गया। उनका इलाज स्थानीय अस्पताल में किया गया।

पिछले दो दिनों से जारी है बवाल
विवाद शनिवार रात से शुरू हुआ था। कुछ लोग धर्म परिवर्तन के आरोपों को लेकर गोर्रा गांव में हथियार और लाठी-डंडा लेकर घुसे थे। यहां इन लोगों ने गांव के लोगों से मारपीट की। गांव के लोगों की भीड़ जुटने पर हमलावर मौके से भाग निकले थे। इसके बाद रविवार को भी दो पक्षों में मारपीट हुई। आदिवासी समाज ने दूसरे पक्ष पर जबरदस्ती धर्मांतरण करने का आरोप लगाया है। घटना के विरोध में सोमवार को आदिवासी समाज ने बैठक बुलाई थी। इसी दौरान यह घटना घटी।

ग्रामीण लाठी डंडा लेकर विरोध करने पहुंचे थे।

ग्रामीण लाठी डंडा लेकर विरोध करने पहुंचे थे।

TI से भी की थी मारपीट
रविवार को हुई बैठक में आदिवासी समाज और दूसरे पक्ष के लोग लाठी-डंडे लिए भीड़ गए थे। तब ऐंड़का पुलिस मौके पर पहुंची थी। वहां भी भीड़ हिंसक हो गई और ऐंड़का थाने के TI तुलेश्वर जोशी पर हमला कर दिया। इस हमले में TI घायल हुए थे। ग्रामीणों ने उनके साथ हुई मारपीट की शिकायत थाने में भी दर्ज कराई थी।

जानकारी मिली है कि ये शनिवार की घटना को लेकर आदिवासी समाज ने सोमवार को नारायणपुर बंद बुलाया साथ ही धरना प्रदर्शन करने की तैयार थी। इसी वजह से बड़ी संख्या में लोग नारायणपुर में जमा हुए थे। मगर कुछ लोग फिर भड़क गए।

चर्च के अंदर तोड़फोड़ की गई है।

चर्च के अंदर तोड़फोड़ की गई है।

कोंडागांव से बुलाई अतिरिक्त पुलिस
नारायणपुर जिला मुख्यालय में शांति नगर स्थित है। इस इलाके में ज्यादातर ईसाई समुदाय के लोग रहते हैं। ग्रामीणों की भीड़ इसी इलाके में घुसी है। IG सुंदरराज पी समेत 4 आईपीएस ऑफिसर इस मामले में मैदान पर उतरे हैं। बड़े वाहनों को जाने नहीं दिया जा रहा है। कोंडागांव से अतिरिक्त पुलिस बल को बुलाया गया है।

मौके पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

मौके पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।

ईसाई धर्म अपनाने वाले आदिवासियों को गांवों से निकाला
धर्मातरण को लेकर छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले में पिछले कई दिनों से माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। इस दौरान हमलों और झड़पों की घटनाएं भी हुईं हैं। इससे पहले 18 दिसंबर को ईसाई धर्म अपनाने वाले आदिवासियों को उनके गांवों से निकाल दिया गया था जिसके बाद से तनाव जैसे हालात बने हुए हैं।

रविवार को टीआई के साथ भी गामीणों ने मारपीट की थी।

रविवार को टीआई के साथ भी गामीणों ने मारपीट की थी।

क्या बोले SP
मामले को लेकर एसपी सदानंद कुमार ने बताया कि आदिवासी समाज के लोगों ने बैठक बुलाई थी। उसमें उनके लीडर्स से कलेक्टर के चेंबर में हम सब ने बात भी की थी। मगर उसी दौरान कुछ लोग चर्च में तोड़फोड़ करने पहुंच गए। ये पता चलने पर मैं वहां गया था। तभी मुझ पर हमला हुआ है। फिर हमने लोगों को समझाइश दी। इस केस में कार्रवाई की जाएगी।

नारायणपुर एसपी ने इलाज के बाद पत्रकारों से चर्चा की है।

नारायणपुर एसपी ने इलाज के बाद पत्रकारों से चर्चा की है।

वहीं कलेक्टर अजीत वसंत ने कहा कि हमें पहले इस बैठक की सूचना दी गई थी। इसलिए हमने पहले समाज के लीडर्स से बात की थी। उन्हें समझाया गया था कि यहां जो कार्यक्रम होना है। वहा शांति से होना चाहिए, फिर भी ऐसा हुआ है। घटना में एसपी घायल हुए हैं। हम लोगों को समझाकर उनके घर भेज रहे हैं।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular