Tuesday, July 23, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: कोयला घोटाला केस... निलंबित IAS रानू साहू की जमानत पर सुनवाई...

CG: कोयला घोटाला केस… निलंबित IAS रानू साहू की जमानत पर सुनवाई आगे बढ़ी, अब 14 दिसंबर की तारीख तय; 9 आरोपियों को फिर से नोटिस जारी.. बढ़ सकती है इन अफसरों की मुश्किल

रायपुर: छत्तीसगढ़ के कोयला घोटाला केस में जेल में बंद निलंबित IAS रानू साहू की जमानत याचिका पर सुनवाई आगे बढ़ गई है। हाईकोर्ट में 14 दिसंबर को मामले की सुनवाई होगी। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने रानू साहू को इसी साल जुलाई में हिरासत में लिया था। ED की ओर से उन पर कथित कोयला घोटाले में शामिल होने का आरोप है। इससे पहले बुधवार को इसी केस में कांग्रेस विधायक देवेंद्र यादव समेत 9 आरोपी फिर से कोर्ट में पेश नहीं हुए।

वहीं, जेल में बंद आरोपियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ऑनलाइन पेशी हुई। इनके कोर्ट में गैरहाजिर रहने पर ED के वकील ने आपत्ति जताई तो जेल प्रशासन की ओर से फोर्स की कमी का हवाला दिया गया। मामले की अगली सुनवाई 6 जनवरी को होगी। आरोपी अगर अब कोर्ट में पेश नहीं होते तो जमानती वारंट जारी किया जाएगा।

निलंबित IAS अफसर रानू साहू की जमानत याचिका पर आज HC में सुनवाई हो सकती है।

9 आरोपियों को फिर से नोटिस

ED के वकील सौरभ पांडेय ने बताया कि मामले में आरोपी विधायक देवेंद्र यादव और पूर्व विधायक चंद्रदेव राय समेत 9 लोगों को कोर्ट ने फिर से नोटिस जारी किया है। इनमें कांग्रेस नेता आरपी सिंह, विनोद तिवारी, रोशन सिंह, पीयूष साहू, नारायण साहू, मनीष उपाध्याय भी शामिल हैं।

कोयला घोटाले केस में जेल में बंद सौम्या चौरसिया, IAS समीर बिश्नोई, रानू साहू और सूर्यकांत तिवारी समेत अन्य आरोपियों को कोर्ट में पेश होना था। मामले से जुड़े आरोपी पिछली तीन सुनवाई से कोर्ट में हाजिर नहीं हो रहे हैं, ना ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़ रहे हैं।

बढ़ सकती है इन अफसरों की मुश्किल

छत्तीसगढ़ में चुनाव से पहले ED ने बड़ी कार्रवाईयों को अंजाम दिया था। ED ने सरकार के करीबियों और अफसरों के ठिकानों पर लगातार छापेमारी भी की थी। फिलहाल समीर बिश्नोई, रानू साहू और सौम्या चौरसिया न्यायिक हिरासत में जेल में है। तीनों ही अफसर पिछली सरकार के काफी खास थे। ऐसे में माना जा रहा है कि अब सरकार बदलने के बाद इनकी मुश्किलें कम होने के बजाय बढ़ सकती हैं।

चुनाव से पहले बीजेपी ने वादा किया था कि सत्ता में लौटने पर सभी तरह के घोटालों की गंभीरता से जांच कराई जाएगी। वहीं डॉ रमन सिंह ने संभावना जताई है कि प्रदेश में ED की कार्रवाई में तेजी आ सकती है।

निलंबित अधिकारी समी बिश्नोई और सौम्या चौरसिया (फाइल)

निलंबित अधिकारी समी बिश्नोई और सौम्या चौरसिया (फाइल)

ED ने इन्हें बनाया है आरोपी

छत्तीसगढ़ कोयला स्कैम केस में ED ने निलंबित IAS रानू साहू, निखिल चंद्रकार समेत विधायक देवेंद्र यादव, पूर्व विधायक चंद्रदेव राय, कांग्रेस नेता आरपी सिंह, विनोद तिवारी, रोशन सिंह, पीयूष साहू, नारायण साहू, मनीष उपाध्याय को आरोपी बनाया है। इनमें से IAS रानू साहू और निखिल चंद्राकर पहले से ही जेल में हैं। रानू साहू को 22 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था।

कांग्रेस विधायक देवेंद्र यादव और पूर्व विधायक चंद्रदेव राय (फाइल)

कांग्रेस विधायक देवेंद्र यादव और पूर्व विधायक चंद्रदेव राय (फाइल)

क्या है कोल स्कैम

ED ने छत्तीसगढ़ में जांच के बाद 540 करोड़ के कोल लेवी स्कैम का खुलासा किया था। इसमें IAS रानू साहू के अलावा IAS समीर विश्नोई, सौम्या चौरसिया, जेडी माइनिंग एसएस नाग और कारोबारी सूर्यकांत तिवारी को गिरफ्तार किया। इसके अलावा कांग्रेस नेता और कुछ कारोबारी भी EDके जांच के दायरे में है। इन लोगों से पूछताछ की गई है और इनके घरों से कुछ दस्तावेजों को भी जब्त किया गया है।

540 करोड़ का कोल स्कैम

ईडी ने पिछले साल 540 करोड़ के अवैध कोल परिवहन का केस दर्ज किया है। कोल परिवहन में प्रति टन 25 रुपए कमीशन वसूलने का आरोप है। इसमें IAS समीर विश्नोई, रानू साहू, खनिज अधिकारी शिव शंकर नाग, संदीप नायक, कारोबारी सूर्यकांत तिवारी, सुनील अग्रवाल, लक्ष्मीकांत तिवारी, निखिल चंद्राकार, दीपेश टांक और राजेश चौधरी को गिरफ्तार किया गया है। सभी जेल में है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular