Saturday, March 2, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: 7 सालों से मालिक की गद्दी में बैठती है गाय... एप्पल...

CG: 7 सालों से मालिक की गद्दी में बैठती है गाय… एप्पल गाय के नाम पर से है फेमस, खुद दरवाजा खोल करती है एंट्री, लोग खिंचाते है सेल्फी

RAIPUR: छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक गाय और इंसान के बीच का अटूट रिश्ता खूब फेमस हो रहा है। हर कोई इसे अपनी आंखों से देखने के लिए पहुंच रहा है। ये कहानी है पद्म डाकलिया और चंद्रमणि की।

जी हां। रायपुर के पंडरी कपड़ा मार्केट में एक शोरूम के मालिक पद्म के यहां रोजाना एक गाय आती है। जिसे ये प्यार से चंद्रमणि कहकर पुकारते हैं। ये गाय खुद ही शोरूम का दरवाजा खोलती है। बड़े ही आराम से अंदर आती है। दुकान मालिक को एक नजर ढूंढती है। फिर खुद ही गद्दे के ऊपर चढ़कर बैठ जाती हैं।

शॉप के मालिक रोज गाय को एप्पल खिलाते हैं।

शॉप के मालिक रोज गाय को एप्पल खिलाते हैं।

7 सालों से ग्राहकों के साथ गाय को भी रिस्पांस

शॉप के मालिक पद्म डाकलिया ने बताया कि इस सिलसिले की शुरुआत 2016 के आसपास शुरू हुई। धनतेरस के दिन चंद्रमणि सीधे दुकान के अंदर जाकर घुस गई। वर्कर उसे भगाने लगे तो मैं इसे ईश्वर का शुभ संकेत मानते हुए ऐसा करने से मना किया। फिर उसे प्रसाद खिलाया। तब से लेकर अब तक वो रोज दोपहर शॉप के अंदर आकर बैठती है।

कभी-कभी कपड़े खरीदने आए कस्टमर जब ये नजारा देखतें है तो उन्हें आश्चर्य होता है। लेकिन व्यापारी समेत दुकान का पूरा स्टाफ कस्टमर के साथ गाय को भी रिस्पांड करता है। उन्हें सहलाते है…और वो बड़े ही आराम से गद्दे में घण्टों बैठे रहती है। कई कस्टमर गाय को इस तरह गद्दे में बैठे देखकर उसके साथ सेल्फी भी खिंचाते है।

दुकान में आने वाले लोग लेते है सेल्फी।

दुकान में आने वाले लोग लेते है सेल्फी।

एप्पल गाय के नाम से प्रसिद्ध

इस गाय को पद्म डाकलिया बीतें कई सालों से रोज अपने हाथों से एप्पल खिलाते हैं। जिसे देखकर आसपास के व्यापारी इसे एप्पल गाय के नाम से जानते हैं। वे भी इसे एप्पल खिलाते रहते है। उनका कहना है कि ये संबंध एक मां और बेटे के समान बना हुआ है। वो उन्हें रोज आकर पास बैठकर आशिर्वाद देती है।

7 सालों से गाय के दुकान में आकर गद्दे में बैठने का सिलसिला जारी है।

7 सालों से गाय के दुकान में आकर गद्दे में बैठने का सिलसिला जारी है।

प्रधानमंत्री मोदी तक को गौमूत्र और गौ प्रोडक्ट भेजवा चुके है

व्यापारी पद्म ने बताया की खैरागढ़ में उनका मनोहर गौशाला नाम का एक ट्रस्ट भी है। जो गायों की सेवा करता है। यहां से बीते सालों में छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुइया उइके से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गौ से जुड़े प्रोडक्ट भेजे गए हैं। यहां गायों के लिए मेडिकल फैसिलिटी की व्यवस्था है।

  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular