Tuesday, December 12, 2023
Homeछत्तीसगढ़कोरबाCG: हाथी ने महिला को कुचलकर मार डाला... दल से बिछड़कर गांव...

CG: हाथी ने महिला को कुचलकर मार डाला… दल से बिछड़कर गांव में पहुंचा, वन विभाग ने अलर्ट जारी किया

मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर: जिले के खड़गवां विकासखंड में हाथी ने एक महिला को कुचलकर मार डाला। घटना ग्राम पंचायत जरौंधा के भुजवल डांड में हुई। महिला के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया गया है। मामला खड़गवां थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, शनिवार रात एक हाथी गांव में घुस गया था। महिला उस वक्त घर से बाहर ही थी। हाथी को देखकर वो भागने लगी, लेकिन बच नहीं सकी। हाथी ने उसे दौड़ाकर सूंड में लपेटा और जमीन पर पटककर कुचल दिया। हाथी के हमले में महिला की मौके पर ही मौत हो गई।

वन विभाग ने मृत महिला के परिजनों को 25 हजार रुपए की तात्कालिक सहायता राशि दी है।

वन विभाग ने मृत महिला के परिजनों को 25 हजार रुपए की तात्कालिक सहायता राशि दी है।

महिला का शव घर के पास ही खेत में मिला है। रविवार सुबह लोगों ने पुलिस और वन विभाग को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया। गांववालों से पूछताछ की गई है। वहीं वन विभाग ने मृत महिला के परिजनों को 25 हजार रुपए की तात्कालिक सहायता राशि दी है। वन विभाग ने गांववालों को अकेले जंगल में जाने से मना किया है। साथ ही हाथियों के नजदीक जाने या फोटो-वीडियो बनाने की कोशिश नहीं करने की भी चेतावनी दी है।

11 हाथियों का दल बैकुंठपुर वन परिक्षेत्र के सलबा कांदाबाड़ी और 5 हाथियों का दल खड़गवां वन परिक्षेत्र में विचरण कर रहा है।

11 हाथियों का दल बैकुंठपुर वन परिक्षेत्र के सलबा कांदाबाड़ी और 5 हाथियों का दल खड़गवां वन परिक्षेत्र में विचरण कर रहा है।

बता दें कि कोरबा जिले के कटघोरा वनमंडल से हाथियों का दल कोरिया जिले में आया हुआ है। इनमें से 11 हाथियों का दल बैकुंठपुर वन परिक्षेत्र के सलबा कांदाबाड़ी और 5 हाथियों का दल खड़गवां ​​​​​​​वन परिक्षेत्र में विचरण कर रहा है। हाथियों के चलते गांववाले दहशत में हैं। 5 हाथियों के दल से ही एक हाथी भटककर ग्राम पंचायत जरौंधा के भुजवल डांड पहुंचा था।

11 हाथियों का दल बैकुंठपुर के सलबा स्टेट हाईवे को पार कर सलबा कांदाबाड़ी में चला गया है।

11 हाथियों का दल बैकुंठपुर के सलबा स्टेट हाईवे को पार कर सलबा कांदाबाड़ी में चला गया है।

वन विभाग के कर्मचारी ने बताया कि एक दिन पहले 11 हाथियों का दल बैकुंठपुर के सलबा स्टेट हाईवे को पार कर सलबा कांदाबाड़ी में चला गया है। हाथियों ने सैकड़ों किसानों की खेत में लगी धान की फसल को रौंदकर बर्बाद कर दिया है।

हाथियों का दल जमकर मचा रहा उत्पात, फसलों को भी रौंदा। घरों को भी पहुंचाया नुकसान।

हाथियों का दल जमकर मचा रहा उत्पात, फसलों को भी रौंदा। घरों को भी पहुंचाया नुकसान।

इससे पहले 11 हाथियों का दल गुरुवार रात को अमृतधारा बस्ती में पहुंच गया था। हाथियों के गांव में पहुंचते ही वन विभाग ने ग्रामीणों को घरों से निकालकर पास के सामुदायिक भवन, रेस्ट हाउस में पहुंचाया था। दरअसल अमृतधारा में वन अमले की मुनादी के बावजूद दो परिवार ही घर से बाहर निकले, बाकी ने इसे अनसुना कर दिया था। हाथी दल ने ग्रामीण लखपति और ओरिल के घर व बाड़ी को घेर लिया था। परिवार की चीख-पुकार सुनकर वन अमले ने किसी तरह घर से 10 सदस्यों को बाहर निकाला।

वन अमले की सूझबूझ से एक परिवार के 10 लोगों को हाथियों से सुरक्षित किया गया। इसके बाद हाथियों का दल सलबा कांदाबाड़ी चला गया था। वन परिक्षेत्र बिहारपुर के अमृतधारा में हाथियों के दल ने 6 किसानों की फसल और दो घर को नुकसान पहुंचाया था। इसके बाद हाथियों का दल गुरुवार रात 1.30 बजे ग्राम बसेर होते हुए तर्रा रेंज के देवगढ़ वन मंडल में प्रवेश कर गए थे।

2 दिन पहले भालू ने भी किया था महिला पर हमला

मनेंद्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले के ग्राम चनवारीडांड में गुरुवार रात घर में घुसकर भालू ने महिला पर हमला कर दिया था। घायल महिला करनिया बाई को वन विभाग ने अस्पताल पहुंचाया। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मनेंद्रगढ़ में इलाज के बाद महिला अब ठीक है। वन विभाग ने महिला के परिजनों को तत्काल मुआवजा राशि प्रदान की।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular