Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाBCC News 24: CG न्यूज़- 17 लाख की ठगी, सलाखों के पीछे...

BCC News 24: CG न्यूज़- 17 लाख की ठगी, सलाखों के पीछे दो भाई.. बिलासपुर के युवक को शेयर मार्केट में पैसा लगाने के नाम पर लगाया चूना, दोनों गिरफ्तार

छत्तीसगढ़: बिलासपुर के युवक को शेयर मार्केट में पैसा लगाने का झांसा देकर 17 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने वाले दो भाइयों को पुलिस ने मुंबई से गिरफ्तार किया है। युवक की पहचान पढ़ाई के दौरान दोनों भाइयों से हुई थी। उसके बिलासपुर वापस आने के बाद दोनों भाइयों ने उसे शेयर मार्केट में फायदा होने और रुपए जमा करने पर दो से तीन गुना रकम मिलने का झांसा दिया था। लेकिन, उसके 17 लाख रुपए को दोनों भाइयों ने मिलकर हजम कर लिया। मामला सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र का है।

टिकरापारा निवासी प्रतीक दामा (24) करीब चार साल पहले मुंबई में रहकर पढ़ाई करता था। इस दौरान उसकी पहचान मुंबई के मुलूंड में रहने वाले निमेश ठक्कर और उसके भाई रौनक ठक्कर से हुई। अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद प्रतीक वापस बिलासपुर आ गया। यहां आने के बाद उसकी निमेश और रौनक से मोबाइल पर बातचीत होती थी।

सात माह में दिए 17.58 लाख, पूरी रकम खा गए दोनों भाई
प्रतीक ने पुलिस को बताया कि यहां आने के बाद निमेश और रौनक ने उसे घर बैठे पैसे कमाने का ऑफर दिया और शेयर मार्केट में पैसा लगाने का झांसा दिया। प्रतीक उनकी बातों में आ गया और दोनों भाइयों के अकाउंट में रकम जमा करने लगा। उसने किश्तों में जनवरी 2021 से जुलाई 2021 तक सात महीने में 17 लाख 58 हजार रुपए जमा कराया।

रुपए लौटाने के नाम पर करते रहे टालमटोल
इधर, 17 लाख 58 हजार रुपए देने के करीब एक साल बाद भी उन्हें कुछ फायदा नहीं हुआ और न ही उन्हें जमा रकम की जानकारी दी गई। तब प्रतीक ने दोनों भाइयों को जमा रुपए लौटाने के लिए बोला। इस पर दोनों भाई टालमटोल करते रहे। आखिरकार परेशान होकर प्रतीक ने पुलिस से शिकायत की, जिस पर पुलिस केस दर्ज कर दोनों आरोपियों की तलाश में जुट गई।

पुलिस ने दबिश दी, तो फरार हो गए थे दोनों भाई
इस दौरान पुलिस मुंबई जाकर उनके ठिकानों में दबिश दी। लेकिन, दोनों भाई फरार हो गए थे। दोनों लगातार अपना ठिकाना बदलते रहे थे। वहीं, आरोपियों के नहीं मिलने पर पुलिस खाली हाथ लौटती रही।

6 दिन तक रैकी, तब पकड़ाए दोनों आरोपी
SSP पास्र्ल माथुर के निर्देश पर इस बार दोनों आरोपियों को पकड़ने के लिए टीम बनाई गई। उन्हें आरोपियों को लेकर वापस लौटने के निर्देश दिए। तब पुलिस की टीम छह दिन तक मुंबई में रहकर दोनों आरोपियों की रेकी करती रही। इस बार पुलिस को कामयाबी मिल गई और दोनों भाइयों को पुलिस ने दबोच लिया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular