Saturday, May 25, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाबीएड में एडमिशन के नाम पर हो रही खुलेआम वसूली... छात्रा ने...

बीएड में एडमिशन के नाम पर हो रही खुलेआम वसूली… छात्रा ने थाने में की शिकायत, कहा फीस लेकर नहीं दे रहे रसीद

दुर्ग: जिले में खुलेआम छात्र-छात्राओं से लूट मची हुई है। सबसे बुरा हाल बीएड कोर्स का है। इस कोर्स की फीस तो मात्र 33 हजार रुपए है, लेकिन स्टूडेंट्स से टेबल के नीचे से मोटी रकम ली जा रही है। ऐसे ही एक मामले की शिकायत बीएड में एडमिशन लेने गई छात्रा रुमझुम ताम्रकार ने भिलाई नगर थाने और सांसद विजय बघेल से की है।

दुर्ग जिले के धमधा क्षेत्र की रहने वाली रुमझुम ताम्रकार ने थाने में शिकायत की है कि एडमिशन के नाम पर उसे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। रुमझुम का आरोप है कि मेरिट लिस्ट में नाम आने के बाद वो 6 दिसंबर 2023 को छत्तीसगढ़ वाणिज्य एवं विज्ञान महाविद्यालय सेक्टर 6 में बीएड प्रथम वर्ष में एडमिशन लेने गई थी।

भिलाई नगर थाने में की गई बीएड फीस को लेकर शिकायत।

भिलाई नगर थाने में की गई बीएड फीस को लेकर शिकायत।

वहां एडमिशन काउंटर में बैठी मैडम ने रुमझुम से 12,050 रुपए फीस ली, लेकिन उस फीस की रसीद नहीं दी। जब रुमझुम ने रसीद ना देने का कारण पूछा तो मैडम ने बोला कि वो केवल एडमिशन फीस 33 हजार रुपए की रसीद देंगे। 12,050 रुपए स्टेशनरी के लिए लिए जा रहे हैं, उसकी रसीद किसी भी छात्र-छात्रा को नहीं दी गई है। इसके बाद रुमझुम ने मामले की शिकायत दुर्ग सांसद विजय बघेल के आवास पर जाकर की। सांसद आवास से जब स्कूल प्रबंधन को फोन गया, तब जाकर उन्होंने उसकी फीस वापस की।

फीस देकर कागज पर लिखवाया, फिर नहीं दिया एडमिशन

छात्रा द्वारा बिना रसीद फीस लिए जाने का विरोध करना कॉलेज प्रबंधन को इतना नागवार गुजरा कि उसने 12,050 रुपए वापस करने के बाद छात्रा से कागज पर लिखवाकर रख लिया कि उनके द्वारा उससे कोई भी फीस नहीं ली गई। इसके बाद उन्होंने एडमिशन की लास्ट डेट होने के बाद भी छात्रा को एडमिशन नहीं दिया। छात्रा का कहना है कि जो विद्यार्थी कॉलेज प्रबंधन को नाजायज फीस देगा, उन्हीं का वो एडमिशन ले रहे हैं और जो इसका विरोध करता है, उसको एडमिशन नहीं दिया जा रहा।

पूरे राज्य में चल रहा यही खेल, कई करोड़ रुपए की अवैध वसूली

सांसद विजय बघेल के पीए लिलेश देशमुख ने बताया कि उनके पास छात्रा शिकायत लेकर आई थी। इस तरह बिना रसीद के फीस लेना गैरकानूनी है। उन्होंने कॉलेज प्रबंधन को ऐसा करने से रोका, तो उन्होंने उसकी फीस तो वापस कर दी, लेकिन एडमिशन नहीं दिया। देशमुख का कहना है कि छात्रा ने आरोप लगाया है कि इसी तरह की अवैध फीस वसूली पूरे दुर्ग जिले यहां तक की छत्तीसगढ़ राज्य में चल रही है। सरकार को चाहिए कि वो इसे लेकर कोई ठोस कानून लाए। बीएड कोर्स की पढ़ाई सीसीटीवी कैमरे में करवाएं और बिना रसीद फीस लेते पकड़े जाने पर कॉलेज प्रबंधन की मान्यता को समाप्त करने की कार्रवाई करें।

अभिषेक झा, एएसपी सिटी दुर्ग।

अभिषेक झा, एएसपी सिटी दुर्ग।

पुलिस कर रही मामले की जांच

एएसपी सिटी अभिषेक झा ने बताया कि सांसद आवास से उनके पास बीएड कॉलेज द्वारा अवैध फीस लेने की शिकायत आई है। शिकायत भिलाई नगर थाने में दी गई है। उन्होंने थाना प्रभारी को मामले की जांच करने के निर्देश दिए हैं। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कॉलेज प्रबंधन ने कहा जो फीस ली थी, उसे वापस किया

छत्तीसगढ़ वाणिज्य एवं विज्ञान महाविद्यालय सेक्टर 6 भिलाई के ताहिर खान ने कहा कि छात्रा का आरोप झूठा है। उसने एडमिशन फीस जमा ही नहीं की थी। जो फीस उससे ली गई थी और उसने जिसे लेकर सांसद विजय बघेल के यहां शिकायत की थी, वो स्टेशनरी की फीस थी। सांसद कार्यालय से फोन आने के बाद उसे वो फीस वापस कर दी गई है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular