Tuesday, July 23, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा: पत्रकार पर हमला करने वाले 3 गिरफ्तार... जेल ले जाते समय...

कोरबा: पत्रकार पर हमला करने वाले 3 गिरफ्तार… जेल ले जाते समय मुख्य आरोपी राहुल हुआ फरार, तीन पुलिसकर्मियों पर हो सकती है कार्रवाई

KORBA: कोरबा में पत्रकार पर हमले के आरोपियों में से तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां से जमानत निरस्त हो जाने के बाद जेल दाखिल करने के लिए ले जाया गया। इसी बीच रास्ते में ही मुख्य आरोपी फरार होने में सफल हो गया। पुलिस फरार आरोपी राहुल चौहान की तलाश कर रही है।

दरअसल, 26 अगस्त की रात छत्तीसगढ़ के कोरबा में घंटाघर के पास पत्रकार उमेश यादव पर प्राण घातक हमला करने वाले गिरोह के तीन लोगों को मानिकपुर चौकी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। मुख्य आरोपी राहुल चौहान निवासी पोडीबहार, विजय कंवर निवासी दरी और अर्जुन यादव पंप हाउस कॉलोनी कोरबा निवासी को कोर्ट में पेश किया गया।

चकमा देकर फरार हुआ मुख्य आरोपी

वहीं तीनों आरोपी के खिलाफ लूट का मामला दर्ज है, इसलिए जमानत के अभाव में तीनों को जेल भेजने का निर्देश अदालत ने दिया। पुलिसकर्मी राजेश दुबे, संजय साहू और रतन कुमार तीनों आरोपी राहुल, विजय और अर्जुन को कोरबा जेल लेकर जा रहे थे। जेल के पास राहुल चौहान पुलिस कर्मियों को चकमा देकर फरार हो गया।

तीन पुलिसकर्मियों पर भी हो सकती है कार्रवाई

फिलहाल कोरबा फरार आरोपी पुलिस राहुल चौहान की तलाश करने के लिए पूरी कोशिश कर रही है। पुलिस अधीक्षक जितेंद्र शुक्ला और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा खुद इस मामले में पल-पल की जानकारी ले रहे हैं। वहीं बताया जा रहा है कि आरोपियों को जेल ले जाने वाले तीन पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई हो सकती है।

कंपनी ब्लैक स्मिथ से जुड़ा है आरोपियों कनेक्शन

बहरहाल जो लोग पकड़े गए हैं और जो फरार होने में सफल हुा है, उन सभी के कनेक्शन एक कंपनी ब्लैक स्मिथ से जुड़ा हुआ है। पत्रकार से लूटपाट और मारपीट के पीछे कंपनी की भूमिका को जानने की पुलिस प्रयास कर रही है।

ये है पूरा मामला

गौरतलब है कि एक न्यूज़ चैनल में कार्यरत उमेश यादव पर 26 अगस्त की रात लगभग 10 बजे घंटाघर के पास लगभग एक दर्जन लोगों ने हमला कर दिया था। उनके साथ मारपीट के अलावा सोने की चेन, 3 मोबाइल और लगभग डेढ़ लाख रुपए भी लूट कर फरार हो गए थे। साथ ही जिस कार में उमेश सवार थे उसे भी पत्थर मार-मार कर तोड़ दिया गया था।

इस मामले को लेकर कोरबा प्रेस क्लब, भारती श्रमजीवी पत्रकार महासंघ समेत कई संगठनों ने जिम्मेदार अधिकारियों को ज्ञापन सौंप कर आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की थी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular