Tuesday, June 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाKORBA : बोलेरो चालक की हत्या करने वाले 3 गिरफ्तार, फिरौती के...

KORBA : बोलेरो चालक की हत्या करने वाले 3 गिरफ्तार, फिरौती के लिए किया किडनैप, नकाबपोशों को पहचान गया तो कर दी हत्या

KORBA: कोरबा के करतला थाना क्षेत्र में 14-15 फरवरी की दरमियानी रात बोलेरो चालक अमित साहू (35 साल) की हत्या के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तीनों आरोपी उसी के गांव के रहने वाले हैं। पुलिस ने एक आरोपी को सेंदरीपाली गांव से, तो दूसरे आरोपी को रायपुर से पकड़ा है। जबकि तीसरा आरोपी नेपाल बॉर्डर से गिरफ्तार किया गया।

बताया जा रहा है कि नकाबपोश आरोपियों ने लूटपाट और फिरौती की मंशा से बोलेरो चालक अमित साहू की किडनैपिंग की और गनियारी के जंगल में ले गए। जब अमित ने आरोपियों को पहचान लिया तो उन्होंने उसकी हत्या कर दी और लाश को मौके पर छोड़कर फरार हो गए थे।

चोरी के मोबाइल से फोन कर की थी अमित की गाड़ी की बुकिंग

कोरबा एसपी सिद्धार्थ तिवारी ने बताया कि अमित साहू का हत्या का मामला पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती थी। 14-15 फरवरी की रात अमित की हत्या हुई थी। चोरी के मोबाइल से फोन कर अस्पताल जाने के लिए अमित को बुलाया गया था।

इसके बाद आरोपी उसे जंगल ले कर गए और फिरौती की मांग करने की प्लानिंग कर रहे थे। इस दौरान अमित को प्लानिंग की बात पता चल गई थी। इसलिए आरोपियों ने उसे मौत के घाट उतार दिया। इतना है नहीं अमित के सिर को पत्थर से कुचल दिया गया था।

ऐसे हुआ खुलासा

टीम को जांच के दौरान पूछताछ में यह जानकारी मिली कि चोरी के मोबाइल से फोन कर अस्पताल जाने के लिए अमित के गाड़ी बोलेरो को बुकिंग किया गया था। जांच में यह पता चला कि जिस नंबर से फोन आया था वह मोबाइल केरवा के एक व्यक्ति का था, जिससे पूछताछ पर पता चला कि काले रंग के स्कूटी में दो अज्ञात व्यक्तियों ने शाम को बात करने के बहाने उसके फोन को लूट लिया था।

पूछताछ के दौरान टीम को सूचना मिली कि घटना के बाद से गांव नवाडीह के 3 व्यक्ति गांव मे नहीं थे। इस पर इन व्यक्तियों की पतासाजी की गयी। संदेही पवन कुमार कंवर से पूछताछ करने पर उसने अपने साथियों के साथ घटना को अंजाम देना स्वीकार किया।

मामले को सुलझाने 15 दिन गांव में पुलिस ने किया कैंप

बता दें कि इस मामले को सुलझाने के लिए पुलिस ने 15 दिनों तक गांव में ही कैंप किया। पुलिस की पांच अलग-अलग टीमों ने जांच पड़ताल की जिसके बाद तीनों आरोपियों को अलग-अलग जगह से गिरफ्तार किया गया। आरोपी पवन कुमार कंवर के निशानदेही पर रायपुर से हेमलाल दिव्य और राजेश कुमार लहरे को नेपाल बार्डर के पास से पकड़ा गया।

एसपी ने टीम को दी बधाई

एसपी सिद्धार्थ तिवारी ने इस टीम में काम करने वाले सभी कर्मचारियों के साथ खड़े होकर फोटो खींचा और हाथ मिलाकर बधाई दी। एसपी ने कहा कि यह मामला पुलिस के लिए बहुत बड़ी चुनौती थी। बड़ी सफलता मिली है। इसमें काम करने वाले पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया जाएगा।

ये है पूरा मामला

गौरतलब है कि सेंदरीपाली के रहने वाले अजय प्रकाश साहू ने करतला थाना में रिपोर्ट दर्ज कराया था कि उसके भाई अमित कुमार साहू की किसी अज्ञात व्यक्तियों ने हत्या कर दी है। रिपोर्ट पर अपराध दर्ज कर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की।

जांच के दौरान टीम ने घटनास्थल की बारीकी से जांच की। जांच के दौरान पाया गया कि बोलेरो में भी खून के निशान थे। घटनास्थल पर ही बोलेरो के साथ मृतक के बॉडी के पास मोबाइल फोन, घड़ी, खून से सना पत्थर और हुडी कैप मिला था।

Muritram Kashyap
Muritram Kashyap
(Bureau Chief, Korba)
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular