Saturday, March 2, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़-महाराष्ट्र बॉर्डर पर नक्सलियों ने काटा गला... मुखबिरी के शक में मारकर...

छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र बॉर्डर पर नक्सलियों ने काटा गला… मुखबिरी के शक में मारकर फेंकी अधेड़ की लाश, खदान के लिए दलाली करने का भी लगाया आरोप

जगदलपुर: छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र के बॉर्डर इलाके पर नक्सलियों ने एक अधेड़ की हत्या कर दी है। धारदार हथियार से गला रेतकर शव को गांव में फेंक दिया। नक्सलियों ने इस पर पुलिस की मुखबिरी करने का आरोप लगाया है। साथ ही खदान की दलाली करने, युवाओं को बरगला कर पैसे और नौकरी लगाने का आरोप भी लगाया है। मामला गढ़चिरौली के एटापल्ली थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, मृतक का नाम लालसु वेदडा है, जो एटापल्ली के जांबिया ग्राम पंचायत का रहने वाला था। बताया जा रहा है कि, देर रात नक्सली इसके घर पहुंचे थे। घर से उठाकर जंगल की तरफ लेकर गए, फिर मौत की सजा दे दी।

छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र के बॉर्डर इलाके पर नक्सलियों ने एक अधेड़ की हत्या कर दी है।

छत्तीसगढ़-महाराष्ट्र के बॉर्डर इलाके पर नक्सलियों ने एक अधेड़ की हत्या कर दी है।

PLGA ने वारदात को अंजाम दिया

नक्सलियों के PLGA ने वारदात को अंजाम दिया है। सुबह परिजनों और इलाके के ग्रामीणों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। मौके पर जवान पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवाया है।

शव के पास मिले पर्चे

नक्सलियों ने शव के पास पर्चे फेंके हैं, जिसमें लिखा है कि लालसु पुलिस का मुखबिर था। सूरजागढ़ खनन परियोजना में दलाली कर रहा था। गांव के कुछ और लोगों को भी अपने साथ मिलाकर काम कर रहा था। कई बार समझाइश भी दी गई। नहीं माना इसलिए PLGA (पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी) ने इसकी हत्या कर दी।

नक्सलियों ने शव के पास पर्चे फेंके हैं।

नक्सलियों ने शव के पास पर्चे फेंके हैं।

अब तक इतने लोगों की हत्याएं

  • 17 नवंबर 2020 को नक्सलियों ने सुकमा के जंगलों में जन अदालत लगाकर 2 युवकों की हत्या की थी।
  • 21 अक्टूबर 2020 को नक्सलियों ने बीजापुर में एक आरक्षक को अगवा कर जनअदालत लगा उसकी हत्या की थी।
  • साल 2020 में ही नक्सलियों ने नारायणपुर के अबूझमाड़ में 2 युवकों पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगा कर गला रेत कर हत्या की थी।
  • साल 2020 में कांकेर जिले में नक्सलियों ने जनअदालत लगा कर एक पूर्व सरपंच की हत्या की थी।
  • साल 2020 में कांकेर जिले में एक दिव्यांग युवक की हत्या कर शव सड़क किनारे फेंका था। इस पर भी पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया गया था।
  • साल 2020 में सुकमा जिले में ही नक्सलियों ने एक ग्रामीण पर पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाकर जनअदालत लगा उसकी हत्या कर दी थी।
  • नवंबर 2021 में सुकमा जिले में जन अदालत लगाकर माओवादियों ने 2 युवकों की हत्या की थी। इनपर भी पुलिस मुखबिरी का आरोप लगाया था।
  • नवंबर 2021 में नक्सलियों ने कांकेर जिले के कोयलीबेड़ा इलाके में जन अदालत लगाकर 1 ग्रामीण की हत्या की थी।
  • जनवरी 2022 में बीजापुर जिले में अपने ही एक साथी कमलू पुनेम को जन अदालत लगाकर मारा था।
  • जनवरी 2022 में ही बीजापुर जिले के जांगला थाना क्षेत्र में अपने ही 2 साथी भोंगी पोयाम और कोतरापाल निवासी बोटी कुहरामी पर पुलिस मुखबिरी का शक कर उन्हें भी जन अदालत लगा कर मौत की सजा दी।
  • 10 फरवरी को माओवादियों ने दंतेवाड़ा जिले के टेटम में एक युवक की हत्या कर दी थी।
  • 17 मार्च को माओवादियों ने बीजापुर जिले के मद्देड थाना क्षेत्र में एक पास्टर की हत्या की थी।
  • 28 अप्रैल को दंतेवाड़ा के नीलावाया में एक दिव्यांग युवक की हत्या कर दी।
  • 2 मई को दंतेवाड़ा जिले के कटेकल्याण इलाके के एक कोटवार को मारा था।
  • 27 अगस्त को कोंडागांव जिले में एक ग्रामीण की जान ले ली।
  • 10 नवंबर 2022 को CG-तेलंगाना राज्य की सीमा पर एक युवक को मारकर फेंक दिया था।
  • 6 जनवरी 2023 को CG-तेलंगाना बॉर्डर पर एक ग्रामीण की हत्या की।
  • फरवरी 2023 में नारायणपुर, दंतेवाड़ा और बीजापुर इन 3 जिलों में भाजपा के 3 नेताओं को मारा।
  • Krishna Baloon
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular