Friday, April 19, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाबैंककर्मी की फंदे पर लटकी मिली लाश... मौत से पहले साथ काम...

बैंककर्मी की फंदे पर लटकी मिली लाश… मौत से पहले साथ काम करने वाली युवती मिलने आई थी घर, 2 अप्रैल को बेटी की थी छठी

सक्ती: जिले में शुक्रवार को बैंककर्मी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वो सक्ती के अखराभांठा में किराए का मकान लेकर रहता था। जिस वक्त उसने फांसी लगाई, उस वक्त घर पर कोई नहीं था। उसकी लाश सबसे पहले मकान मालकिन ने देखी। जिसके बाद उसने आसपास के लोगों और पुलिस को मामले की जानकारी दी। मामला सक्ती थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, जैजैपुर थाना क्षेत्र के ग्राम कांशीगढ़ का रहने वाला संजय चंद्रा (28 वर्ष) आरबीएल बैंक में काम करता था। वो सक्ती के अखराभांठा में किराए के मकान में रहता था। एक महीने पहले उसकी गर्भवती पत्नी डिलीवरी के लिए अपने मायके मालखरौदा थाना क्षेत्र के ग्राम अमलीडीह गई थी। 9 मार्च को उसने दूसरी बेटी को जन्म दिया, जिसका कार्यक्रम 2 अप्रैल को होना था। उसके लिए कार्ड भी बांटे जा चुके थे। बेटी के जन्मोत्सव के लिए संजय चंद्रा भी ससुराल जाने वाला था।

फांसी पर लटकी हुई मिली बैंककर्मी संजय चंद्रा की लाश।

फांसी पर लटकी हुई मिली बैंककर्मी संजय चंद्रा की लाश।

शुक्रवार सुबह जब मकान मालकिन उसे पानी भरने के लिए बोलने गई, तो दरवाजा खुला हुआ मिला। अंदर जाकर देखने पर संजय की लाश फांसी के फंदे पर लटकती हुई मिली। इसके बाद उसने तुरंत इस बात की जानकारी अपने परिवार, पड़ोसियों और सक्ती थाना पुलिस को दी।

मौके पर पहुंची पुलिस ने युवक के शव को फांसी के फंदे से नीचे उतारा और पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवाया। पुलिस ने कहा कि शुरुआती जांच में तो मामला आत्महत्या का ही लग रहा है, लेकिन हत्या और आत्महत्या दोनों के एंगल से जांच की जा रही है। मृतक के परिवारवालों को घटना की सूचना दे दी गई है।

2 अप्रैल को बच्ची के जन्म के बाद षष्ठी कार्यक्रम होने वाला था। उसका कार्ड भी बांटा जा चुका था।

2 अप्रैल को बच्ची के जन्म के बाद षष्ठी कार्यक्रम होने वाला था। उसका कार्ड भी बांटा जा चुका था।

आखिरी बार एक युवती से मिलने की बात आई सामने

पुलिस ने बताया कि गुरुवार को संजय चंद्रा के बैंक में काम करने वाली एक युवती उससे मिलने घर पर आई थी। पुलिस की पूछताछ में युवती ने बताया कि वह गुरुवार दोपहर साढ़े 3 बजे संजय के घर गई थी। उसी के कारण बैंक में उसकी नौकरी लगी थी, जिसके बाद दोनों के बीच जान-पहचान हो गई थी। संजय किसी बात को लेकर परेशान चल रहा था, लेकिन उसे भी नहीं पता कि उसे क्या परेशानी थी।

पुलिस ने बताया कि युवती के जाने के बाद से बैंककर्मी संजय को किसी ने नहीं देखा था। शुक्रवार को उसकी लाश फांसी पर लटकती हुई मिली। इसलिए पुलिस मामले की हत्या के एंगल से भी जांच कर रही है। युवती से और पूछताछ होनी बाकी है। साथ ही परिवारवालों और जिस बैंक में मृतक काम करता था, उसके कर्मचारियों का बयान भी लिया जाएगा। बता दें कि मृतक दूसरी बार पिता बना था। पहले से उसे 4 साल की एक बेटी है, जिसका नाम भूमिका चंद्रा है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular