Saturday, May 18, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाछत्तीसगढ़: ग्रामीण की गोली मारकर हत्या.. खेत में मिली खून से लथपथ...

छत्तीसगढ़: ग्रामीण की गोली मारकर हत्या.. खेत में मिली खून से लथपथ लाश; मुखबिरी के शक में लगातार लोगों का खून बहा रहे नक्सली

छत्तीसगढ़: नवगठित जिले मोहला-मानपुर-अंबागढ़ चौकी में एक बार फिर नक्सलियों ने मुखबिरी के शक में गोली मारकर एक ग्रामीण की हत्या कर दी। घटना मंगलवार शाम की है। ग्रामीण औंधी थाना क्षेत्र के ग्राम तुकाम का रहने वाला था। फिलहाल पुलिस ने इलाके में सर्चिंग तेज कर दी है।

औंधी थाना पुलिस ने बताया कि ग्रामीण मनजीत टोप्पो (32 वर्ष) मंगलवार शाम किसी काम से गया हुआ था। इसी दौरान घात लगाए नक्सलियों ने उसे पकड़ लिया और गोली मार दी। मौके पर ही मनजीत की मौत हो गई। उसकी लाश खेत में मिली है। वारदात को अंजाम देकर नक्सली फरार हो गए। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया। फिलहाल आरोपियों की तलाश की जा रही है।

ग्रामीण मनजीत टोप्पो का शव।

ग्रामीण मनजीत टोप्पो का शव।

14 अक्टूबर को भी नक्सलियों ने की थी आरक्षक के पिता की हत्या

जिले में नक्सली लगातार मुखबिरी के शक में लोगों की हत्या कर रहे हैं। दो हफ्ते के दौरान ये दूसरी घटना है। इससे पहले 14 अक्टूबर को मोहला-मानपुर-अंबागढ़ चौकी जिले में नक्सलियों ने आरक्षक के पिता रविंद्र साय कटेगा (55 वर्ष) को गोली मार दी थी। इसके बाद नक्सलियों ने रविंद्र साय पर कुल्हाड़ी से भी वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया था। मृतक के शव पर धारदार हथियार से गोदे जाने के निशान मिले थे। घटना कोहका थाना क्षेत्र के संबलपुर गांव में हुई थी।

11 दिन पहले मिला था ग्रामीण रविंद्र साय कटेगा का शव।

11 दिन पहले मिला था ग्रामीण रविंद्र साय कटेगा का शव।

नक्सलियों ने संबलपुर गांव से लगे जंगल में घटना को अंजाम दिया था। रविंद्र साय कटेगा मानपुर में नक्सल पीड़ित के तौर पर 2009 से रह रहा था। 2009-10 में उसने गोपनीय सैनिक के रूप में भी काम किया था। नक्सलियों ने मानपुर विकासखंड के डब्बा से लेकर संबलपुर तक 25 लोगों को मारने का फरमान जारी किया हुआ है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular