Friday, April 19, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबापरिवारवाले लौटे तो घर के पास पड़ा मिला कंकाल... छह माह पहले...

परिवारवाले लौटे तो घर के पास पड़ा मिला कंकाल… छह माह पहले गुजरात चले गए थे मकान मालिक, पुलिस ने समेटी हड्डियां; हत्या का संदेह

बिलासपुर: जिले के एक गांव में सूने मकान के पास तीन से चार माह पुराना कंकाल मिला है। मकान मालिक करीब छह माह पहले कमाने खाने के लिए गुजरात गया था। गुरुवार की रात को वह परिवार समेत वापस आया। इसके बाद शुक्रवार को घर के बाजू में उसे शव के अवशेष मिले। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस और फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने कंकाल को जब्त करके जांच शुरू कर दी है। आशंका जताई जा रही है कि, हत्या के बाद लाश को ठिकाने लगाया गया होगा। मामला पचपेड़ी थाना क्षेत्र का है। मकान गांव से बाहर की ओर है।

ग्राम भटचौरा निवासी ओमप्रकाश लहरे (26) पिता इतवारी लहरे रोजी-मजदूरी करता है। वह करीब छह माह पहले अपने परिवार के सदस्यों के साथ कमाने खाने के लिए गुजरात गया था। बीते गुरुवार की रात वह परिवार सहित अपने घर आया। रात में ओमप्रकाश घर की साफ-सफाई कर सो गया था। फिर शुक्रवार की सुबह सफाई के दौरान ही उसे घर के बाजू में शव के अवशेषों को देखा। इससे घबराए ओमप्रकाश ने इस घटना की जानकारी गांव के कोटवार एवं पंच सहित अन्य लोगों को दी।

अलग-अलग जगह पर बिखरे पड़े थे हडि्डयों के अवशेष।

अलग-अलग जगह पर बिखरे पड़े थे हडि्डयों के अवशेष।

मौके पर पहुंची पुलिस, शव के अवशेषों को किया बरामद
इस घटना की जानकारी मिलते ही पचपेड़ी पुलिस गांव पहुंच गई। पुलिस ने मकान के बाजू में करीब 500 मीटर तक बारीकी से जांच की। इस दौरान खोपड़ी सहित हड़डियां अलग-अलग जगहों पर बिखरे मिले, जिससे आशंका जताई जा रही है कि शव को जानवर नोंच-नोंच कर इधर-उधर कर दिए थे। पुलिस को आशंका है कि शव तीन से चार माह पुराना है। जानवरों के मांस को नोंचकर खाने की वजह से हडि्डयों के अवशेष बचे हैं।

किसकी है लाश, पता लगाना मुश्किल
जिस तरह से पुलिस ने हड्‌डी के अवशेषों को बरामद किया है। इससे यह भी स्पष्ट नहीं हो रहा है कि शव पुरुष का है या फिर महिला का। इसकी जानकारी जुटाने के लिए पुलिस फॉरेंसिक जांच कराई जाएगी। इसके साथ ही गांव के साथ ही आसपास के इलाकों में भी गुमइंसानों की जानकारी जुटाकर पता लगाएगी कि शव किसका है।

शव के अवशेषों की तलाश करती रही पुलिस।

शव के अवशेषों की तलाश करती रही पुलिस।

गांव से बाहर सूनसान जगह पर है मकान
बताया जा रहा है कि ओमप्रकाश का घर गांव से बाहर है। इसके चलते वहां लोगों की आवाजाही भी नहीं होती थी। इसलिए यह पता नहीं चल सका कि यहां किसी की लाश को फेंक दिया गया है। कहा जा रहा है कि उसके सूनसान मकान को देखकर किसी ने हत्या की वारदात के बाद शव को ठिकाने लगा दिया होगा। फिलहाल, पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। जांच के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो सकेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular