Friday, July 19, 2024
Homeछत्तीसगढ़कोरबाकोरबा में जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने मां-बेटे को जमकर पीटा... गालीगलौज...

कोरबा में जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने मां-बेटे को जमकर पीटा… गालीगलौज कर खूब चलाए मुक्के-थप्पड़, पार्किंग को लेकर हुई थी बहस

कोरबा: जिले के मेडिकल कॉलेज अस्पताल परिसर में मंगलवार शाम कुछ डॉक्टरों ने गाड़ी स्टैंड में काम करने वाले मां-बेटे की पिटाई कर दी। हंगामा देख मौके पर लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। जैसे-तैसे लोगों ने समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, मेडिकल कॉलेज अस्पताल कोरबा के 2-3 डॉक्टर जब स्टैंड पर अपनी गाड़ी खड़ी करने के लिए पहुंचे, तो वहां मौजूद मां और नाबालिग बेटे से उनकी बहस हो गई। बहस गालीगलौज और हाथापाई तक पहुंच गई। इसके बाद डॉक्टरों ने मां और नाबालिग बेटे की पिटाई कर दी।

कुछ डॉक्टरों ने गाड़ी स्टैंड में काम करने वाले मां-बेटे की पिटाई कर दी।

कुछ डॉक्टरों ने गाड़ी स्टैंड में काम करने वाले मां-बेटे की पिटाई कर दी।

दोनों पक्षों ने की जमकर गालीगलौज

महिला और उसके बेटे ने भी डॉक्टरों को मारा। इस दौरान हाई वोल्टेज ड्रामा देखने को मिला। दोनों पक्षों की तरफ से जमकर गालीगलौज की गई। मौके पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। घटना की सूचना जिला मेडिकल कॉलेज प्रबंधन को भी दी गई। मौके पर प्रबंधन के अधिकारी भी पहुंचे और बीच-बचाव किया। यहां तक कि शोर सुनकर अस्पताल में भर्ती मरीज और उसके परिजन भी बाहर आ गए।

डॉक्टरों ने महिला से मारपीट की, थाने में दर्ज कराया मामला।

डॉक्टरों ने महिला से मारपीट की, थाने में दर्ज कराया मामला।

मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर डाला

कुछ लोगों ने मारपीट का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया। जिला मेडिकल कॉलेज के सह अधीक्षक रविकांत जटवार ने बताया कि मामले की जानकारी ली गई है। दोनों ही पक्षों ने सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई है। आगे प्रबंधन की ओर से उच्च अधिकारियों से बात कर फैसला लिया जाएगा। वहीं सिविल लाइन थाना पुलिस का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

अक्सर होती है मारपीट की घटनाएं

वाहन स्टैंड पर मारपीट का ये कोई पहला मामला नहीं है, बल्कि इससे पहले भी यहां ऐसी घटनाएं होती रही हैं। कुछ दिनों पहले ही जिला मेडिकल कॉलेज में एक मरीज के परिजन को गाड़ी स्टैंड के कर्मचारियों ने बेल्ट से पीटा था। इसकी शिकायत सिविल लाइन थाने में की गई थी, जिसके बाद दोनों पक्षों पर कार्रवाई की गई थी।

जिला मेडिकल कॉलेज के वाहन स्टैंड को प्रबंधन ने ठेके पर दिया है, जहां वाहन स्टैंड के कर्मचारी प्रति व्यक्ति पैसे लेते हैं। वाहन खड़ा करने और पैसे मांगे जाने को लेकर आए दिन विवाद की स्थिति बनती है।

Muritram Kashyap
Muritram Kashyap
(Bureau Chief, Korba)
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular