Thursday, July 25, 2024
Homeसरगुजाअंबिकापुर शहर में घुसा भालू... पुलिस की पेट्रोलिंग गाड़ी देख भागने लगा...

अंबिकापुर शहर में घुसा भालू… पुलिस की पेट्रोलिंग गाड़ी देख भागने लगा इधर-उधर, वन विभाग की टीम ने जंगल की ओर खदेड़ा

अंबिकापुर: अंबिकापुर के रिहायशी इलाकों में जंगली जानवरों के आने का सिलसिला लगातार जारी है। गुरुवार देर रात भालू शहर के सबसे व्यस्ततम मार्ग देवीगंज रोड पर देखा गया। इस दौरान पुलिस की टीम पेट्रोलिंग पर निकली थी। पेट्र्रोलिंग टीम की नजर अचानक सड़क पर घूम रहे भालू पर पड़ी। इधर पुलिस की गाड़ी को देख भालू भी इधर-उधर भागने लगा।

पुलिस ने तत्काल मामले की जानकारी वन विभाग को दी। सूचना पर वन अमला मौके पर पहुंचा। इस दौरान भालू शहर के कई रिहायशी क्षेत्रों में विचरण करता रहा। इधर वन अमले ने भगवानपुर से लगे कल्याणपुर की जंगल की ओर भालू को खदेड़ दिया है। शुक्रवार को भी पुलिस और वन विभाग की संयुक्त टीम भालू को सर्च करती रही, हालांकि वो जंगल की ओर भाग गया था। रेंजर ने बताया कि वन्यप्राणियों के मूवमेंट पर नजर रखी जा रही है। शनिवार को भी भालू के मूवमेंट पर नजर है, ताकि वो दोबारा रिहायशी इलाकों में दिखे, तो उसे खदेड़ा जा सके।

भालू शहर के कई रिहायशी इलाकों में घूमता रहा।

भालू शहर के कई रिहायशी इलाकों में घूमता रहा।

गौरतलब है कि जंगली जानवर अब शहर में प्रवेश करने लगे हैं। दो महीने पहले जंगल से भटककर एक हाथी भी शहर से लगे खैरबार इलाके में पहुंच गया था। हाथी कई दिनों तक इलाके में विचरण करता रहा था। इस दौरान हाथी ने 2 ग्रामीणों को भी मार डाला था। इसके कुछ ही दिन बाद एक जंगली सुअर महामाया पहाड़ से होते हुए शहर में पहुंच गया था। इस दौरान उसने दो महिलाओं पर हमला कर दिया था। इधर गुरुवार की रात जंगल से भटककर एक भालू शहर में पहुंच गया। बाद में वन विभाग की टीम ने उसे खदेड़ दिया।

पुलिस की पेट्रोलिंग टीम और वन विभाग ने भालू को जंगल की ओर खदेड़ा।

पुलिस की पेट्रोलिंग टीम और वन विभाग ने भालू को जंगल की ओर खदेड़ा।

रेंजर संजय लकड़ा ने बताया कि रात को पुलिस द्वारा जानकारी मिली कि शहर में भालू घुस अया है। तत्काल टीम के साथ पहुंचकर मोर्चा संभाला गया। सर्चिंग बाद में भी चलती रही। भालू को शहर से कल्याणपुर जंगल की ओर खदेड़ दिया गया है।

रात में सड़क थी खाली, नहीं तो हो सकता था बड़ा हादसा

गुरुवार की रात भालू देवीगंज रोड पर पहुंच गया था, जो शहर के कई इलाकों में भ्रमण करता रहा। गनीमत ये रही कि रात होने की वजह से सड़कें खाली थीं, इसलिए कोई बड़ी घटना होने से बच गई। अगर भालू सुबह तक शहर में डटा रहता, तो मॉर्निंग वॉक पर निकले लोगों पर हमला कर सकता था।

लोगों से सतर्क रहने की अपील

रेंजर ने बताया कि शहर में पहुंचे भालू को जंगल की ओर खदेड़ दिया गया है। वहीं गोधनपुर, सरगवां, बांसबाड़ी और शहर के रिहायशी इलाकों पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। इन क्षेत्रों में वन विभाग द्वारा मुनादी के माध्यम से लोगों से सतर्क रहने की अपील की गई है। रात में सावधानी पूर्वक घरों से बाहर निकलने की बात कही गई है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular